1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मड़ियांव में डबल मर्डर ने इलाके में फैला दी सनसनी, वृद्ध की प्रेमिका संग गला घोंटकर हत्या

मड़ियांव में डबल मर्डर ने इलाके में फैला दी सनसनी, वृद्ध की प्रेमिका संग गला घोंटकर हत्या

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर का एक माह का कार्यकाल पूरा हो चुका है, लेकिन अपराधिक घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। मंगलवार सुबह मड़ियांव थाना क्षेत्र में डबल मर्डर ने इलाके में सनसनी फैला दी है। यहां एक वृद्ध और उसकी प्रेमिका की गला घोंटकर हत्‍या कर दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस फोर्स व फॉरेंसिक टीम के साथ मैाके पर कमिश्नर डीके ठाकुर पहुंचे हैं। मामले में वृद्ध के तीन बेटे और दो पौत्रों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पढ़ें :- Corona new variants: कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर UP सरकार अलर्ट, इन जिलों में विशेष नजर रखने के निर्देश

मामला मड़ियांव थानाक्षेत्र के केशवनगर का है। यहां के निवासी राम दयाल (70) की पहली पत्नी की मौत हो चुकी थी। राम दयाल के परिवार में पहली पत्‍नी से तीन बेटे और दो पौत्र हैं। इंस्पेक्टर मड़ियांव विपिन कुमार सिंह के मुताबिक, पहली पत्‍नी की मौत के बाद से राम दयाल का शांति देवी (60) के बीच प्रेम प्रसंग शुरू हो गया। इसी बीच दोनों लिव-इन रिलेशनशिप में रहने लगे। राम दयाल के पास इटौंजा में सड़क किनारे दो बीघा जमीन थी। राम दयाल, शांति देवी के कहने पर वह जमीन थोड़ी-थोड़ी करके बेच रहा था। इस बात को लेकर बेटों और पौत्र से उसका विवाद चल रहा था। बेटे जमीन बेचने का विरोध कर रहे थें। राम दयाल अपने तीन बेटों और दो पौत्र से अलग रहने लगा।

घटना की जानकारी पर पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने मौके का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि राम दयाल ने छह बिसवा जमीन का सौदा 57 लाख रुपये में किया था। उसका 11 लाख राम दयाल के खाते में और शांति के बेटे मोनू के खाते में चार लाख रुपया आया था। इसकी जानकारी राम दयाल के तीन बेटे और दो पौत्र को गई। इसपर तीनों बेटे और पौत्र राम दयाल के घर पहुंचे। उन्होंने विरोध किया। इसपर झगड़ा शुरू हो गया। झगड़े के दौरान तीनों बेटों और दो पौत्र ने मिलकर शॉल से गला घोंटकर राम दयाल और शांति देवी की हत्या कर दी थी। सरकार की तरफ से लगातार रैपिड टेस्ट के साथ ही कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग तथा उपचार का अभियान जारी है।

इंस्पेक्टर ने बताया कि विवाद के दौरान जब राम दयाल के बेटों ने रुपयों की मांग की और बची हुई जमीन को न बेचने के लिए कहा। इसपर शांति देवी ने कहा कि वह उन्हें फूटी कौड़ी नहीं देगीं और न ही एक इंच जमीन देगी। इस पर सभी आग बबूला हो गए और उन्होंने दोनों को मार डाला। पांचों हत्यारोपितों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। लखनऊ के पुलिस कमिश्नर के रूप में डीके ठाकुर का एक माह का कार्यकाल पूरा हो चुका है। 18 नवंबर 2020 को उन्‍होंने पूर्व पुलिस कमिश्नर लखनऊ सुजीत पांडेय का कार्यभार संभाला था। लेकिन उसके बावजूद क्राइम के ग्राफ में कोई कमी नहीं नजर आ रही है। एक के बाद एक अपराधी अपने मनसूबों को अंजाम दे रहे हैं।

पढ़ें :- मुंबई में किसान महापंचायत: राकेश टिकैत बोले-MSP की गारंटी देने वाला कानून लाए केंद्र सरकार
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...