राजधानी महफूज कहां, अपराधियों ने घर में घुस की दो सगी बहनों की हत्या

लखनऊ। योगी सरकार में क्राइम ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है, लॉ एंड आर्डर ध्वस्त होता दिखाई दे रहा है, राजधानी में आये दिन ऐसे-ऐसे मामले प्रकाश में आ रहें है जिसे देख राजधानी वासी अपने आप को मह्फूफ़ नहीं मान सकते| नया मामला राजधानी के गुडंबा थाना क्षेत्र का है जहां अपराधियों ने दो सगी बहनों की जघन्य हत्या कर घर में लूटपाट की घटना को अंजाम दिया है| मौके पर पहुँची पुलिस की टीम घटना स्थल को देख हैरान रह गयी| जहां महिलाओं की लाश कमरे में बेड पर पड़ी थी। घटना स्थल को देख लूटपाट और हत्या की लग रही है। इस मामले में आईजी जय नारायण ने एसएसपी दीपक कुमार को तत्काल मौके पर पहुंचकर जानकारी देने के निर्देश दिया है। वहीं मौके पर पहुंची स्थानीय थाने की पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक सिटी क्षेत्र की बजरंग कालोनी में रहने वाली दोनों सगी बहनें साइबर कैफे चलाती थीं, जिसका नाम रिचा साइबर जोन है। आज सुबह पुलिस को पड़ोसियों के माध्यम से घटना की जानकारी मिली। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर देखा तो दोनों बहनों के शव बेड पर अस्त-व्यस्त हालत में पड़े मिले। इन महिलाओं के शरीर पर चोट के निशान और गला दबाकर हत्या किए जाने से सबूत मिले हैं। वहीं एक महिला के ऊपर कुर्सी रखी गई थी। ऐसा लग रहा है कि हत्या करते समय विरोध से बचने के लिए बदमाशों ने कुर्सी का इस्तेमाल किया।

प्रशासन की कार्यशैली पर उठें सवाल
सूत्रों की माने तो घटना रात की है, जब मौका पाकर अपराधियों ने वारदात को अंजाम तक पहुँचाया| सवाल यह उठता हैं कि जब पुलिस को पेट्रोलिंग के सख्त आदेश मिलने के बावजूद भी इसका पालना क्यों नहीं किया जा रहा है| राजधानी में बेख़ौफ़ अपराधी इतनी आसानी से कैसे अपने मंसूबों को अंजाम तक पहुंचा रहे हैं| गोमती नगर विस्तार के मामले को भी देख ले तो पुलिस की रैवैया साफ़ तौर पर देखा जा सकता है| अब सवाल यह उठता है कि क्या इसी तरह अपराध का ग्राफ बढ़ता रहेगा और सीएम योगी सार्वजनिक मंच से बस यही कहते रहेंगे कि हम यूपी से अपराध की मंशा रखने वालों को खदेड़ कर मानेंगे| अगर हालात यही रहें तो वह दिन दूर नहीं जब इस सरकार पर भी कानून व्यवस्था को काबू में न कर पाने का कला धब्बा लग जायेगा|