1. हिन्दी समाचार
  2. डबल मर्डर खुलासा:वर्चस्व की लड़ाई में चचेरे भाइयों की हुई थी हत्या

डबल मर्डर खुलासा:वर्चस्व की लड़ाई में चचेरे भाइयों की हुई थी हत्या

By ravijaiswal 
Updated Date

पढ़ें :- सीएम योगी ने पीड़िता के पिता से की बात, आर्थिक मदद के साथ परिवार के सदस्य को नौकरी और घर देने का ऐलान

गोरखपुर।झंगहा में दो चचेरे भाइयों की हत्या करने वाले नौ को पुलिस ने किया गिरफ्तार. साथ मे मौके पर जिस असलहा का प्रयोग किया गया उन तमाम असलहों को भी पुलिस ने किया बरामद, वर्चस्व की लड़ाई को लेकर गोली मारकर की गई थी हत्या ।फिल्मी खलनायक की भूमिका के नक्शे कदम पर चल कर बनाया गया था गैंग।

बीते 24 मई को गोरखपुर के झंगहा थाना क्षेत्र के गोर्रा नदी के किनारे दो लोगो की हत्या की गई थी।जिसमे सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने पड़ताल शुरू की तो पता चला कि, वारदात में 9 एमएम पिस्टल का इस्तेमाल किया गया। वारदात के दौरान शराब पार्टी मौके पर चल रही थी। मौके से शराब की एक बोतल, 9 एमएम का एक जिंदा एवं तीन फायर खोखा और चप्पल व एक बाइक बरामद किया गया। एक मोबाइल और एक आईडी बरामद हुआ। आईडी पर खोराबार क्षेत्र के बहरामपुर निवासी मुकेश पुत्र बुद्धू का नाम था।
हत्या की सूचना के बाद डीआईजी राजेश डी मोदक राव, एसपी नॉर्थ अरविंद पांडे, थानाध्यक्ष झंगहा अनिल कुमार सिंह मौके पर पहुंच गए।और पुलिस टीम जांच में जुट गई।
लेकिन हत्या के खुलासे को लेकर पुलिस पर काफी दबाव बढ़ गया था .हत्या के दो दिन बाद ग्रामीणों ने सड़क जाम कर पुलिस पर अपराधियों से सांठगांठ का आरोप लगाते हुए जमकर बवाल किया था .पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर ग्रामीणों को वहां से खदेड़ा था. जिसके बाद जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर टीमें गठित कर अपराधियों की धरपकड़ के लिए लगाया गया था .जिसमें पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम को सफलता मिली और हत्या में शामिल 9 आरोपियों में से 6 को गिरफ्तार किया गया साथ ही उनको शरण देने वाले 3 शरणदाताओं को भी गिरफ्तार किया गया.
बाकी तीन आरोपियों की तलाश पुलिस सरगर्मी से कर रही है तलास.
गोरखपुर पुलिस लाइन सभागार में संयुक्त प्रेस वार्ता करते हुए पुलिस अधीक्षक उत्तरी अरविंद कुमार पांडे ने बताया कि झगहा थाना क्षेत्र में हुई हत्या में शामिल अपराधियो की गिरफ्तारी के लिए लगी पुलिस और क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने 30 तारीख को रात को मुठभेड़ के दौरान मौके से अभियुक्तों को दो पिस्टल एक कट्टा और कारतूस के साथ गिरफ्तार किया .साथ ही हत्या में शामिल अभियुक्तों को शरण देने वाले दो अन्य अभियुक्तों को भी गिरफ्तार किया ।घटना स्थल में उपयोग किया गया असलहा भी पुलिस ने बरामद किया।

अभियुक्तों में अमन पटेल उर्फ गोलू पुत्र रामचंद्र,अमिष सिंह उर्फ विवेक पुत्र विजय प्रताप सिंह, अभिषेक उर्फ निशु चौबे पुत्र राजेश चौबे, सत्यम यादव पुत्र नीरज यादव, अनिकेत उर्फ विशाल यादव पुत्र कमलेश यादव,अभिजीत यादव पुत्र उदयभान यादव साथ ही अभियुक्ति को शरण देने वाले शशि कुमार यादव पुत्र जोखन यादव, राणा प्रताप सिंह पुत्र राम निवास सिंह, सोनू उर्फ शिवाजी चौधरी पुत्र रामकेवल जो सभी गोरखपुर जिले के निवासी हैं .जिनकी उम्र लगभग 20 से 21 वर्ष के बीच है ।

पुलिस के पूछताछ अभियुक्तों ने बताया की पिछले 2 वर्षों से विवाद चल रहा था .24 तारीख को शराब पीने के दौरान हम लोगों में विवाद हो गया. जिसके बाद हम लोगों ने घटना को अंजाम दिया .

पढ़ें :- महिला सुरक्षा को लेकर सड़क से संसद तक हंगामा करने वाले आखिर हाथरस केस पर क्यों हैं मौन?

 

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...