बीएचयू : डॉ. फिरोज खान ने संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय को छोड़ा, कला संकाय में देंगे सेवा

Dr. Feroz Khan
बीएचयू के संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय को डॉ. फिरोज खान ने छोड़ा, कला संकाय में देंगे सेवा

वाराणसी। काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में डॉ. फिरोज खान की संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान में ज्वाइनिंग को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा है। बढ़ते विवाद को देखते हुए फिरोज खान ने सोमवार देर शाम अपना पद छोड़ दिया। बताया जा रहा है कि दिन में उन्हें बीएचयू प्रशासन की ओर से कला संकाय के संस्कृत विभाग और आयुर्वेद संकाय के संहिता एवं संस्कृत विभाग के नियुक्ति पत्र दिए गए।

Dr Feroz Khan Left Bhus Sanskritology Faculty Of Religion He Will Give In The Faculty Of Arts :

बता दें कि अब डॉ. फिरोज ने आयुर्वेद के बजाय कला संकाय के संस्कृत विभाग में सेवा देने का निर्णय लिया है। एसवीडीवी में डॉ. फिरोज की नियुक्ति के बाद विरोध में सात नवंबर से छात्रों का एक वर्ग आंदोलन कर रहा था। सूत्रों की माने तो डॉ. फिरोज के एसवीडीवी से इस्तीफे की जानकारी संकाय के शिक्षकों को देर शाम मिली जब संकाय के कुछ शिक्षक कुलपति से मिलने उनके आवास पर गए थे।

अब कला संकाय के संस्कृत विभाग में ही डॉ. फिरोज अपनी सेवाएं देंगे। हालांकि इस संबंध में विश्वविद्यालय की ओर से कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। बता दें कि नवंबर महीने की शुरुआत में संस्‍कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय में डॉ. फिरोज के जॉइन करने के साथ गैर हिंदू होने के कारण छात्रों द्वारा जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया था। नियुक्ति रद्द न होने पर छात्रों ने आमरण अनशन की चेतावनी भी दी थी।

वाराणसी। काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में डॉ. फिरोज खान की संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान में ज्वाइनिंग को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा है। बढ़ते विवाद को देखते हुए फिरोज खान ने सोमवार देर शाम अपना पद छोड़ दिया। बताया जा रहा है कि दिन में उन्हें बीएचयू प्रशासन की ओर से कला संकाय के संस्कृत विभाग और आयुर्वेद संकाय के संहिता एवं संस्कृत विभाग के नियुक्ति पत्र दिए गए। बता दें कि अब डॉ. फिरोज ने आयुर्वेद के बजाय कला संकाय के संस्कृत विभाग में सेवा देने का निर्णय लिया है। एसवीडीवी में डॉ. फिरोज की नियुक्ति के बाद विरोध में सात नवंबर से छात्रों का एक वर्ग आंदोलन कर रहा था। सूत्रों की माने तो डॉ. फिरोज के एसवीडीवी से इस्तीफे की जानकारी संकाय के शिक्षकों को देर शाम मिली जब संकाय के कुछ शिक्षक कुलपति से मिलने उनके आवास पर गए थे। अब कला संकाय के संस्कृत विभाग में ही डॉ. फिरोज अपनी सेवाएं देंगे। हालांकि इस संबंध में विश्वविद्यालय की ओर से कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। बता दें कि नवंबर महीने की शुरुआत में संस्‍कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय में डॉ. फिरोज के जॉइन करने के साथ गैर हिंदू होने के कारण छात्रों द्वारा जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया था। नियुक्ति रद्द न होने पर छात्रों ने आमरण अनशन की चेतावनी भी दी थी।