बीआरडी मेडिकल कालेज हादसा: डॉ0 कफील खान को STF से किया गिरफ्तार

बीआरडी मेडिकल कालेज हादसा: डॉ0 कफील खान को एसटीएफ से किया गिरफ्तार

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर स्थित बीआरडी मेडिकल कालेज में आॅक्सीजन की कमी से हुई बच्चों की मौत के मामले में आरोपी डॉ0 कफील खान को एसटीएफ ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है। यह गिरफ्तारी गोरखपुर की भ्रष्टाचार निरोधी अदालत द्वारा इस मामले में आरोपी बनाए गए नौ में से सात लोगों के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किए जाने के बाद डॉ0 कफील के रूप में तीसरी गिरफ्तारी की गई है।

इससे पहले एसटीएफ ने इस मामले में कानपुर से कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ0 राजीव मिश्रा और उनकी पत्नी डॉ0 पूर्णिमा मिश्रा को गिरफ्तार कर 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

{ यह भी पढ़ें:- UP: देवरिया में स्कूल के तीसरी मंजिल से गिरी छात्रा की मौत, स्कूल प्रशासन फरार }

मिली जानकारी के मुताबिक बीआरडी मेडिकल कालेज में हुए हादसे पर मुख्य सचिव राजीव कुमार की रिपोर्ट में सामने आए तथ्यों के आधार पर यूपी सरकार की ओर से लखनऊ के हजरतगंज थाने में 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया गया था। इस मामले को बाद में गोरखपुर की भ्रष्टाचार निरोधी अदालत को ट्रांसफर कर दिया गया। जहां अदालत ने इस मामले के सात आरोपियों के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया था।

बताया जा रहा है कि बीआरडी मेडिकल कालेज में हुई बच्चों की मौतों के मामले में डॉ0 कफील की भूमिका पर सबसे ज्यादा सवाल उठाए गए हैं। उन पर सबसे बड़ा आरोप चाइल्ड वार्ड का इंचार्ज रहते बिना बताए छुट्टी पर जाने का है। जिसे लापरवाही माना जा रहा है। उन पर दूसरा आरोप है कि उन्होंने अस्पताल के सप्लाई विभाग की जिम्मेदारी अपने पास रहते हुए भी आॅक्सीजन की सप्लाई और उसके नियमित भुगतान को सुनिश्चित नहीं किया। इसके साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी आॅक्सीजन सप्लाई कंपनी के भुगतान न होने की बात को छुपाया था। इस लिहाज से उन्हें आर्थिक अनियमितता और लापरवाही के मामले में आरोपी बनाया गया है।

{ यह भी पढ़ें:- योगी आदित्यनाथ समेत पांच मंत्रियो ने ली MLC पद की शपथ }

अदालत के सामने लगाए गए आरोपों के मुताबिक डॉ0 कफील और डॉ0 राजेश मिश्रा ने नि​जी हितों के चलते मासूमों की जान को खतरे में डाला था।