भारत के सामने टिक नहीं सकती ड्रैगन की सेना, वजह है इन चीजो का शौक !

e0a4ade0a4bee0a4b0e0a4a4-e0a495e0a587-e0a4b8e0a4bee0a4aee0a4a8e0a587-e0a49fe0a4bfe0a495-e0a4a8e0a4b9e0a580e0a482-e0a4b8e0a495e0a4a4

नई दिल्ली: चीन लगातार लद्दाख सीमा पर ऐसी हरकतें कर रहा है, जो कि भारत को युद्ध के लिए उकसाने वाली हैं। वो भी तब जबकि वो ये बात भलिभांति जानता है कि युद्ध की सूरत में उसके सैनिक मैदान में टिक नहीं सकते। दरअसल चीन की पीपुल्‍स ल‍िबरेशन आर्मी ने स्‍वीकार किया है कि उसके 20 प्रतिशत सैनिक जंग के लिए अनफिट (Chinese Soldiers Unfit for War) हैं और मास्‍टरबेट करते हैं।

Dragons Army Cannot Stand In Front Of India The Reason Is Fond Of These Things :

जी, वर्ष 2017 में आई चीनी सेना की रिपोर्ट में कहा गया था कि 20 प्रतिशत चीनी सैनिकों का वजन जरूरत से ज्‍यादा है और वे युद्ध के लिए अनफिट (Chinese Soldiers Unfit for War) हैं। चीन की सेना ने अपने सैनिकों की आदत में सुधार के लिए कई निर्देश दिए थे। पीएलए ने अपने सैनिकों से ज्‍यादा वीडियो गेम नहीं खेलने, स्‍मार्टफोन का इस्‍तेमाल कम से कम करने और मास्‍टरबेट कम करने के लिए कहा था।

पीएलए ने अपने सैनिकों की बुरी आदतों को देख मजबूरन अपने मुखपत्र पीपल्‍स लिबरेशन डेली में इन सिद्धांतों को प्रकाशित किया था। हालत यहां तक थी कि एक शहर में 57 प्रतिशत सैनिक टेस्‍ट में फेल हो गए थे। चीनी सेना ने कहा कि 8 प्रतिशत सैनिकों के स्क्रोटम में एक वेन काफी लंबी है। उसने दावा किया कि यह ज्‍यादा बैठने की वजह से होता है। पीएलए ने कहा कि यह लंबे समय तक कंप्‍यूटर गेम खेलने, बहुत ज्‍यादा मास्‍टरबेट करने और अभ्‍यास कम करने की वजह से भी हुआ है।

चीनी सेना के टेस्‍ट में 25 प्रतिशत सैनिकों के अनफिट होने के पीछे अत्‍यधिक शराब पीना भी शामिल है। इसके अलावा कई सैनिक खराब डाइट की वजह से भी अनफिट साबित हुए। चीनी सेना ने कहा कि 46 प्रतिशत सैनिक व‍िजन टेस्‍ट में फेल हुए। ये लोग अपने फोन पर चिपके रहते हैं। बहुत ज्‍यादा स्‍क्रीन देखने से उनकी नजर कमजोर पड़ गई।

पीएलए ने कहा कि सैनिक बहुत ज्‍यादा जंक फूड खाते हैं और इसकी वजह से टेस्‍ट में फेल हुए। गंदा पानी पीने की वजह से उन्‍हें साइनस की भी दिक्‍कत है। अब जब सैनिकों का ये हाल है, तो फिर भला वो भारत के सामने कैसे टिकेंगे। चीन चला रहे लोगों को समझना चाहिए कि युद्ध हथियारों से नहीं बल्कि हथियार चलाने वाले हाथों की दिलेरी से जीते जाते हैं।

नई दिल्ली: चीन लगातार लद्दाख सीमा पर ऐसी हरकतें कर रहा है, जो कि भारत को युद्ध के लिए उकसाने वाली हैं। वो भी तब जबकि वो ये बात भलिभांति जानता है कि युद्ध की सूरत में उसके सैनिक मैदान में टिक नहीं सकते। दरअसल चीन की पीपुल्‍स ल‍िबरेशन आर्मी ने स्‍वीकार किया है कि उसके 20 प्रतिशत सैनिक जंग के लिए अनफिट (Chinese Soldiers Unfit for War) हैं और मास्‍टरबेट करते हैं। जी, वर्ष 2017 में आई चीनी सेना की रिपोर्ट में कहा गया था कि 20 प्रतिशत चीनी सैनिकों का वजन जरूरत से ज्‍यादा है और वे युद्ध के लिए अनफिट (Chinese Soldiers Unfit for War) हैं। चीन की सेना ने अपने सैनिकों की आदत में सुधार के लिए कई निर्देश दिए थे। पीएलए ने अपने सैनिकों से ज्‍यादा वीडियो गेम नहीं खेलने, स्‍मार्टफोन का इस्‍तेमाल कम से कम करने और मास्‍टरबेट कम करने के लिए कहा था। पीएलए ने अपने सैनिकों की बुरी आदतों को देख मजबूरन अपने मुखपत्र पीपल्‍स लिबरेशन डेली में इन सिद्धांतों को प्रकाशित किया था। हालत यहां तक थी कि एक शहर में 57 प्रतिशत सैनिक टेस्‍ट में फेल हो गए थे। चीनी सेना ने कहा कि 8 प्रतिशत सैनिकों के स्क्रोटम में एक वेन काफी लंबी है। उसने दावा किया कि यह ज्‍यादा बैठने की वजह से होता है। पीएलए ने कहा कि यह लंबे समय तक कंप्‍यूटर गेम खेलने, बहुत ज्‍यादा मास्‍टरबेट करने और अभ्‍यास कम करने की वजह से भी हुआ है। चीनी सेना के टेस्‍ट में 25 प्रतिशत सैनिकों के अनफिट होने के पीछे अत्‍यधिक शराब पीना भी शामिल है। इसके अलावा कई सैनिक खराब डाइट की वजह से भी अनफिट साबित हुए। चीनी सेना ने कहा कि 46 प्रतिशत सैनिक व‍िजन टेस्‍ट में फेल हुए। ये लोग अपने फोन पर चिपके रहते हैं। बहुत ज्‍यादा स्‍क्रीन देखने से उनकी नजर कमजोर पड़ गई। पीएलए ने कहा कि सैनिक बहुत ज्‍यादा जंक फूड खाते हैं और इसकी वजह से टेस्‍ट में फेल हुए। गंदा पानी पीने की वजह से उन्‍हें साइनस की भी दिक्‍कत है। अब जब सैनिकों का ये हाल है, तो फिर भला वो भारत के सामने कैसे टिकेंगे। चीन चला रहे लोगों को समझना चाहिए कि युद्ध हथियारों से नहीं बल्कि हथियार चलाने वाले हाथों की दिलेरी से जीते जाते हैं।