ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक करवाना हुआ अनिवार्य: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट: ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक करवाना हुआ अनिवार्य
सुप्रीम कोर्ट: ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक करवाना हुआ अनिवार्य

Driving Licences Will Soon Be Linked With Aadhaar Supreme Court Told

नई दिल्ली। जल्द ही ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक करवाना होने वाला है। लोगों के फर्जी लाइसेंस बनवाकर उसके गलत इस्तेमाल पर लगाम लगाने के लिए सरकार यह कदम उठाने जा रही है। फर्जी ड्राइविंग लाइसेंसों को बंद करने के लिए एक सॉफ्टेवयर भी डिवेलप किया जा रहा है जिससे ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक किया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि सड़क सुरक्षा के लिए एक कमिटी बनाई गयी है जिसकी नियुक्ति सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज के. एस. राधाकृष्णन ने किया था। ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ने की बात की पुष्टि के लिए रोड ट्रांसपॉर्ट ऐंड हाईवे मिनिस्ट्री के जॉइंट सेक्रेटरी से मिली जानकारी का हवाला दिया गया है।

कमिटी ने सुप्रीम कोर्ट के सामने दाखिल रिपोर्ट में बताया कि, ‘पिछले साल 28 नवंबर को हमने रोड ट्रांसपॉर्ट ऐंड हाईवे मिनिस्ट्री के जॉइंट सेक्रटरी से मुलाकात की। इसमें फर्जी लाइसेंस पर लगाम लगाने समेत कई मुद्दो पर चर्चा हुई।’ वहीं फर्जी लाइसेंस के मुद्दे पर जॉइंट सेक्रटरी ने हमें बताया कि मंत्रालय नैशनल इन्फर्मेटिक्स सेंटर (NIC) के साथ मिलकर एक सॉफ्टवेयर तैयार कर रहा है। इस सॉफ्टवेयर का नाम सारथी-4 है। इसके द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस से आधार को जोड़ा जाएगा।

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि सारथी-4 सॉफ्टवेयर से रीयल टाइम बेसिस पर सभी राज्यों को जोड़ा जाएगा, जिसके बाद देश में कहीं भी फर्जी या ड्यूप्लिकेट लाइसेंस लेना संभव नहीं होगा।

नई दिल्ली। जल्द ही ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक करवाना होने वाला है। लोगों के फर्जी लाइसेंस बनवाकर उसके गलत इस्तेमाल पर लगाम लगाने के लिए सरकार यह कदम उठाने जा रही है। फर्जी ड्राइविंग लाइसेंसों को बंद करने के लिए एक सॉफ्टेवयर भी डिवेलप किया जा रहा है जिससे ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक किया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि सड़क सुरक्षा के लिए एक कमिटी बनाई गयी…