मोबाइल नंबर-पैन कार्ड के बाद अब डीएल को आधार से लिंक करना हुआ अनिवार्य

नई दिल्ली। केंद्र सरकार इस समय आधार कार्ड को सभी जरूरी सेवाओं से जोड़ने की कवायद में जुटी हुई है। बैंक खाते को आधार-पैन कार्ड से लिंक करने के बाद मोबाइल नंबर को भी आधार से जोड़ने के निर्देश जारी कर दिये गए हैं। अब ड्राइविंग लाईसेंस को भी आधार से लिंक करना अनिवार्य कर दिया गया है। केन्द्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रोद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, सरकार ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से लिंक करने जा रही है। अगर आपके पास आधार कार्ड नहीं है तो आप ड्राइविंग लाइसेंस नहीं ले पाएंगे।

मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, आधार कार्ड को ड्राइविंग लाईसेंस से लिंक करने के बाद फर्जी डीएल धारकों और शराबियों पर नकेल कसी जा सकेगी। रविशंकर प्रसाद ने कहा, आधार डिजिटल आइडेंटिटी है। डिजिटल गवर्नेंस अच्छा शासन होता है। बता दें कि इससे पहले मई में ही रविशंकर प्रसाद ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से जोड़ने की बात कह चुके हैं।

{ यह भी पढ़ें:- कोई आपके आधार कार्ड से न कर जाए फ़्राड, जाने कहां कहां हो चुका है इस्तेमाल }

इन चीजों को आधार से लिंक करना हुआ अनिवार्य-

  • केंद्र सरकार ने आधार कार्ड को पहले पैन कार्ड से लिंक करना अनिवार्य किया।
  • इसके बाद आधार को बैंक अकाउंट से लिंक करना अनिवार्य किया।
  • टेलीकॉम कंपनियों को भी सरकार ने निर्देश देकर सभी मोबाइल नंबर को आधार से लिंक कराने के लिए बोला।
  • अब सरकार ड्राइविंग लाईसेंस को आधार से लिंक कराएगी।

बताते चलें कि पहले अगर किसी का ड्राइविंग लाइसेंस ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन या फिर आपराधिक गतिविधियों में शामिल रहने पर रद्द किया जाता था। तो ऐसे लोग देश के दूसरे इलाके से फिर ड्राइविंग लाइसेंस बनवा लेते थे। कई ड्राइविंग लाइसेंस हासिल कर आपराधिक प्रवृति के व्यक्ति अपनी पहचान छुपाने में भी कामयाब हो जाते थे। लेकिन आधार नंबर का बॉयोमैट्रिक डिटेल ऐसी हर किसी धोखाधड़ी पर रोक लगाने में सफल हो सकेगा। सरकार का ऐसा मानना है।

{ यह भी पढ़ें:- खाता आधार को जल्द करवायें लिंक, 31 तक रविवार को भी खुले रहेंगे डाकघर }

Loading...