1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. स्वाद के साथ सेहत का भी ख्याल रखती है ड्रमस्टिक, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

स्वाद के साथ सेहत का भी ख्याल रखती है ड्रमस्टिक, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

कुपोषण पीड़ित लोगों के आहार के रूप में सहजन का प्रयोग करने की सलाह दी गई है। एक से तीन साल के बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए यह वरदान माना गया है। सहजन की जड़ का अजवाइन, हींग और सौंठ के साथ काढ़ा बनाकर पीने का प्रचलन है। इसका काढ़ा साइटिका रोग के साथ ही, पैरों के दर्द व सूजन में भी बहुत लाभकारी है।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

नई दिल्ली: सहजन की फली को आप ड्रमस्टिक के नाम से भी जानते होंगे। भारत के कई हिस्सों में इसे सब्जियों के साथ इस्तेमाल किया जाता है। सहजन खाने का स्वाद तो बढ़ाती ही है, साथ ही साथ शरीर को भी बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ देती है. आज हम सहजन के कुछ फायदों के बारे में आपको बताएँगे।

पढ़ें :- Eucalyptus Leaves : नीलगिरी के पत्ते सेहत की रखवाली करते हैं, जानिए इस्तेमाल करने का तरीका

कुपोषण पीड़ित लोगों के आहार के रूप में सहजन का प्रयोग करने की सलाह दी गई है। एक से तीन साल के बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए यह वरदान माना गया है। सहजन की जड़ का अजवाइन, हींग और सौंठ के साथ काढ़ा बनाकर पीने का प्रचलन है। इसका काढ़ा साइटिका रोग के साथ ही, पैरों के दर्द व सूजन में भी बहुत लाभकारी है।

इसमें कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है, जिससे हड्डियां मजबूत बनती है। इसके अलावा इसमें आयरन, मैग्नीशियम और सीलियम होता है। इसीलिए महिलाओं व बच्चों को इसका सेवन जरूर करना चाहिए।

भरपूर मात्रा में मिलता है जिंक 

इसमें जिंक भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो कि पुरुषों की कमजोरी दूर करने में अचूक दवा का काम करता है। सहजन के पत्ते का पाउडर कैंसर और दिल के रोगियों के लिए एक बेहतरीन दवा है। यह ब्लडप्रेशर कंट्रोल करता है। इसका प्रयोग पेट में अल्सर के इलाज के लिए किया जा सकता है। इसके सूप से शरीर का खून साफ होता है।

पढ़ें :- जीरा के 8 प्रभावशाली स्वास्थ्य लाभ

चेहरे पर लालिमा आती है और पिंपल्स की समस्या खत्म हो जाती है। सहजन की पत्तियों से तैयार किया गया सूप तपेदिक, अस्थमा और ब्रोंकाइटिस आदि रोगों में भी दवा का काम करता है। प्राकृतिक गुणों से भरपूर सहजन इतने औषधीय गुणों से भरपूर है कि इसकी फली के अचार और चटनी कई बीमारियों से मुक्ति दिलाने में सहायक हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...