PUBG से हुई एक और छात्र की मौत, ‘ब्लास्ट कर ब्लास्ट कर’ चिल्लाते वक़्त हुआ बेहोश

PUBG
PUBG प्लेयर्स के लिए खुशखबरी, जल्द लांच हो सकता है PUBG Lite

नई दिल्ली। मशहूर गेम पबजी (PUBG) खेलने से 16 साल के लड़के की मौत हो गई है। मामला मध्यप्रदेश के नीमच का है। ये फुरकान कुरैशी नाम के लड़के को पबजी खेलते वक्त कार्डियक अरेस्ट आने से मौत हो गई। फुरकार 12वीं कक्षा में पढ़ते थे। बेटे की मौत के बाद पिता हारून राशिद कुरैशी ने कहा कि फुरकार लगातार 6 घंटे से पबजी खेल रहा था और गेम के दौरान ‘ब्लास्ट कर ब्लास्ट कर’ चिल्ला रहा था। बाद में वो बेहोश हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसकी मौत हो गई।

Due To Pubg One More Boy Died :

दरअसल, फुरकान को अस्पताल में एग्जामिन करने वाले कार्डियोलॉजिस्ट अशोक जैन ने बताया कि जब उसे अस्पताल लाया गया तब उसकी पल्स नहीं चल रही थी। उसे इलेक्ट्रिक शॉक और अन्य चीजों से रिवाइज करने की कोशिश की, लेकिन फायदा नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि लगातार गेम खेलने के चलते उसके दिल की धड़कन तेज हो गई थी, जिसके चलते उसे कार्डियक अरेस्ट आ गया। हालांकि पिता का कहना है कि उनका बेटा अच्छा स्विमर था और उसे दिल संबंधी कोई बीमारी नहीं थी।

बता दें, नेपाल में पहले ही पबजी को बैन कर दिया गया है। नेपाल के एक सीनियर ऑफिशियल्स के मुताबिक यह गेम बच्चों में वायलेंस को बढ़ा रहा था और इससे बच्चों पर गलत प्रभाव पड़ रहा था, जिसके बाद यह फैसला लिया गया है। नेपाल टेलीकम्युनिकेशन अथॉरिटी (NTA) के डेप्युटी डायरेक्टर संदीप अधिकारी ने बताया कि हमने पबजी को नेपाल में बैन करने का आदेश इसलिए दिया है, क्योंकि इसने बच्चों को एडिक्टिव बना दिया है।

नई दिल्ली। मशहूर गेम पबजी (PUBG) खेलने से 16 साल के लड़के की मौत हो गई है। मामला मध्यप्रदेश के नीमच का है। ये फुरकान कुरैशी नाम के लड़के को पबजी खेलते वक्त कार्डियक अरेस्ट आने से मौत हो गई। फुरकार 12वीं कक्षा में पढ़ते थे। बेटे की मौत के बाद पिता हारून राशिद कुरैशी ने कहा कि फुरकार लगातार 6 घंटे से पबजी खेल रहा था और गेम के दौरान 'ब्लास्ट कर ब्लास्ट कर' चिल्ला रहा था। बाद में वो बेहोश हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसकी मौत हो गई। दरअसल, फुरकान को अस्पताल में एग्जामिन करने वाले कार्डियोलॉजिस्ट अशोक जैन ने बताया कि जब उसे अस्पताल लाया गया तब उसकी पल्स नहीं चल रही थी। उसे इलेक्ट्रिक शॉक और अन्य चीजों से रिवाइज करने की कोशिश की, लेकिन फायदा नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि लगातार गेम खेलने के चलते उसके दिल की धड़कन तेज हो गई थी, जिसके चलते उसे कार्डियक अरेस्ट आ गया। हालांकि पिता का कहना है कि उनका बेटा अच्छा स्विमर था और उसे दिल संबंधी कोई बीमारी नहीं थी। बता दें, नेपाल में पहले ही पबजी को बैन कर दिया गया है। नेपाल के एक सीनियर ऑफिशियल्स के मुताबिक यह गेम बच्चों में वायलेंस को बढ़ा रहा था और इससे बच्चों पर गलत प्रभाव पड़ रहा था, जिसके बाद यह फैसला लिया गया है। नेपाल टेलीकम्युनिकेशन अथॉरिटी (NTA) के डेप्युटी डायरेक्टर संदीप अधिकारी ने बताया कि हमने पबजी को नेपाल में बैन करने का आदेश इसलिए दिया है, क्योंकि इसने बच्चों को एडिक्टिव बना दिया है।