1. हिन्दी समाचार
  2. लॉकडाउन के दौरान सायबर ठगों ने निकाला नया आइडिया, खाते मे राहत राशि आने का झांसा देकर खाते से उड़ा दिये 25 हजार

लॉकडाउन के दौरान सायबर ठगों ने निकाला नया आइडिया, खाते मे राहत राशि आने का झांसा देकर खाते से उड़ा दिये 25 हजार

During The Lockdown Cyber Thugs Pulled Out A New Idea Blamed 25 Thousand For The Relief Of The Money Coming Into The Account

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

भोपाल: कोरोना के कहर से देशभर में जारी लॉकडाउन के दौरान शातिर सायबर जलसाजो द्वारा आम लोगों के बैंकों में राहत राशि भेजने की जानकारी का झांसा देकर उनके खाते से हजारो की रकम उड़ाने के मामले सामने आ रहे हैं। हालांकि बीते दिनों सायबर सेल द्वारा ऐसी घटनाओं को लेकर एडवाइजरी जारी कर लोगों से किसी भी लिंक यह सॉफ्टवेयर को डाउनलोड नहीं करने की अपील करते हुए जागरूक भी किया था। इसी कड़ी में राजधानी के ऐशबाग थाना इलाके में हाईटेक ठगों द्वारा युवक को झांसा देकर उसके खाते से करीब 25 हजार की रकम उड़ा दिए जाने की घटना सामने आई है।

पढ़ें :- नौतनवां:एक साथ उठी पति-पत्नी की अर्थिया,रो उठा पूरा नगर

जालसाजो ने युवक को मोबाइल पर फोन कर झांसे में लेते हुए कहा कि उसके खाते में सरकार की ओर से राहत राशि डाली गई है, जिसे वह अपने मोबाइल पर चेक कर ले। पहले युवक ने शातिरो को मना करते हुए इनकार कर दिया, लेकिन आखिरकार उनके झांसे में फरियादी आ ही गया। सायबर ठगो का शिकार बने ऐशबाग इलाके के दिलकुशा बाग में रहने वाले 26 वर्षीय फैजान पिता तहजीब खान ने फोन पर बातचीत करते हुए बताया की वह दवा कंपनी के पैकिंग डिपार्टमेंट में काम करते हैं, और उनका एसबीआई बैंक की गोविंदपुरा ब्रांच में अकाउंट है। फैजान ने आगे बताया कि बीते दिनों उनके मोबाइल पर फोन आया जिस पर दूसरी तरफ से बात कर रहे व्यक्ति ने खुद को सरकारी अफसर बताते हुए कहा कि वर्तमान समय में कोरोनावायरस से बिगड़ते हालात को लेकर आपकी मदद के लिए आपके खाते में सरकार की तरफ से राहत राशि डाली गई है।

युवक ने शातिरो को मना किया कि उसे मदद के पैसों की जरूरत नहीं है, और वो अपना पैसा वापस निकाल ले। इसके बाद दूसरी तरफ से बात कर रहे चालाक व्यक्ति ने उससे कहा की सरकारी नियमों के चलते वह एक बार अपना खाता चेक कर केवल यह बता दें, कि उनके अकाउंट में रकम पहुंची या नहीं। इसके साथ ही अज्ञात आरोपियों ने फरियादी से यह भी कहा कि वह अपने मोबाइल पर फोन-पे ऍप्लिकेशन ऑन कर ले जिसके लिए उसे उसके मोबाईल पर एक लिंक भेजा जा रहा है। जालसाज के झांसे में आए युवक ने जैसे ही अपने मोबाइल पर फोन-पे नामक एप्लीकेशन ऑन करते हुए अपना अकाउंट खोला उसी दौरान उसके खाते से रकम ट्रांसफर होना शुरू हो गई। पीड़ित फैजान ने बताया कि उसके खाते से करीब 15 हजार की रकम मोबाइल ऐप पेटीएम के जरिए निकाली गई। जबकि 55 हजार की रकम दो बार करके किसी दूसरे खातों में ट्रांसफर की गई है।

इस तरह उसके खाते से चंद सेकेंड में ही 30 हजार की रकम निकाली गई। फैजान ने यह भी बताया कि इस दौरान उसने मोबाइल पर अपने अकाउंट को ब्लॉक करने के साथ ही ट्रांसफर हो रही रकम को रोकने की कोशिश की, लेकिन उसकी की गई कोशिश बेकार रही। बाद में फरियादी घटना की शिकायत करने ऐशबाग थाने पहुंचा जहां से उसे सायबर सेल भेज दिया गया। युवक का कहना है, कि साइबर सेल और ऐशबाग दोनों ही जगह पुलिस ने फिलहाल उसकी शिकायत देने से मना करते हुए लॉक्डाउन खुलने के बाद आने को कहा है।

पढ़ें :- किसान आंदोलनः 10वें दौर की बातचीत बेनतीजा, 22 जनवरी को होगी अगली बैठक

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...