संजय राउत के बयान पर दुष्यंत चौटाला का पलटवार, कहा- धौंस और धमकी की राजनीति नहीं करती है जेजेपी

chautala
संजय राउत के बयान पर दुष्यंत चौटाला का पलटवार, कहा- धौंस और धमकी की राजनीति नहीं करती है जेजेपी

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच चल रही है बयानबाजी अब हरियाणा तक पहुंच गई है। दअअसल आज सुबह शिवसेना के संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा था कि ‘यहां कोई दुष्यंत (Dushyant Chautala) नहीं हैं, जिनके पिता जेल में हों। यहां हम हैं, जो ‘धर्म और सत्य’ की राजनीति करते हैं। इस बयान पर हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने टिप्पणी करते हुए कहा कि जेजेपी धौंस और धमकी की राजनीति नहीं करती है।

Dushyant Chautalas Retaliation On Sanjay Rauts Statement Said Jjp Doesnt Do Politics Of Bullying And Intimidation :

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मैं संजय राउत से कहूंगा इस तरह के बयान से उनका कद नहीं बढ़ता है। उनकी पार्टी भाजपा के साथ बहुत लंबे समय से चल रही है। हमारी पार्टी का गठन 11 महीने पहले हुआ है और 11 महीने में हमने धोखा देकर, किसी से लड़ाई लड़ कर आगे-पीछे हटकर, डरा धमका कर आगे बढ़ने की मंशा नही रखी। ईमानदार राजनीति के तहत जैसे 11 महीने में हमने काम किया है वैसे ही आगामी 5 साल प्रदेश के हित में काम करेंगे जो भी महाराष्ट्र का निर्णय होगा वह भाजपा का अंदरूनी मामला होगा।

दिल्ली में चुनाव लड़ने के सवाल पर दुष्यंत ने कहा कि अभी यह फैसला करना बहुत ही जल्दबाजी होगी दिल्ली विधानसभा के चुनाव को लेकर दिल्ली प्रदेश इकाई के साथ बैठक करके फिर इसके बाद फैसला लेंगे। दुष्यंत ने कहा, ‘हमारी प्राथमिकता यह रहेगी कि हरियाणा प्रदेश में 75 फ़ीसदी हिस्सेदारी युवाओं को हो मैं एक युवा हूं और मेरी जिम्मेदारी बनती है कि युवाओं के हक की लड़ाई लड़ूं’।  

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच चल रही है बयानबाजी अब हरियाणा तक पहुंच गई है। दअअसल आज सुबह शिवसेना के संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा था कि 'यहां कोई दुष्यंत (Dushyant Chautala) नहीं हैं, जिनके पिता जेल में हों। यहां हम हैं, जो 'धर्म और सत्य' की राजनीति करते हैं। इस बयान पर हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने टिप्पणी करते हुए कहा कि जेजेपी धौंस और धमकी की राजनीति नहीं करती है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मैं संजय राउत से कहूंगा इस तरह के बयान से उनका कद नहीं बढ़ता है। उनकी पार्टी भाजपा के साथ बहुत लंबे समय से चल रही है। हमारी पार्टी का गठन 11 महीने पहले हुआ है और 11 महीने में हमने धोखा देकर, किसी से लड़ाई लड़ कर आगे-पीछे हटकर, डरा धमका कर आगे बढ़ने की मंशा नही रखी। ईमानदार राजनीति के तहत जैसे 11 महीने में हमने काम किया है वैसे ही आगामी 5 साल प्रदेश के हित में काम करेंगे जो भी महाराष्ट्र का निर्णय होगा वह भाजपा का अंदरूनी मामला होगा। दिल्ली में चुनाव लड़ने के सवाल पर दुष्यंत ने कहा कि अभी यह फैसला करना बहुत ही जल्दबाजी होगी दिल्ली विधानसभा के चुनाव को लेकर दिल्ली प्रदेश इकाई के साथ बैठक करके फिर इसके बाद फैसला लेंगे। दुष्यंत ने कहा, 'हमारी प्राथमिकता यह रहेगी कि हरियाणा प्रदेश में 75 फ़ीसदी हिस्सेदारी युवाओं को हो मैं एक युवा हूं और मेरी जिम्मेदारी बनती है कि युवाओं के हक की लड़ाई लड़ूं'।