दूसरी कैबिनेट बैठक में किसानों पर मेहरबानी, जिला मुख्यालओं में 24 घंटे बिजली

लखनऊ। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में मंगलवार को दूसरी कैबिनेट बैठक हुई। इस कैबिनेट बैठक में भी प्रदेश के किसानों को प्राथमिकता दी गयी, साथ ही प्रदेश के जिला मुख्यालयों में 24 घंटे बिजली देने का फैसला लिया गया। खराब सड़कों को लेकर सीएम योगी ने पहले ही अपनी मंसा जाहिर कर दी थी कि 15 जून तक प्रदेश की सड़कों को गड्ढा मुक्त करना सरकार की प्राथमिकता है। बैठक में इस फैसले पर भी मुहर लगाई गयी। इसके अलावा पिछली सरकार द्वारा लिए गए कुछ फैसलों की जांच का फैसला भी कैबिनेट ने लिया है।


इन प्रस्ताओं को मिली मंजूरी–

  • बैठक के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि सरकार किसानों के प्रति समर्पित है।
  • अक्टूबर 2018 तक हर जगह 24 घंटे बिजली दी जाएगी।
  • गांवों को 18 घंटे, तहसील मुख्यालय को 20 घंटे बिजली दी जाएगी।
  • बुंदेलखंड को भी 20 घंटे बिजली दी जाएगी।
  • जिला मुख्यालय को 24 घंटे बिजली दी जाएगी।
  • किसानों के नलकूपों पर खराब हुए ट्रांसफार्मर 48 घंटे में बदले जाएंगे साथ ही शहरी क्षेत्रों में ट्रांसफार्मर 24 घंटे में बदले जाएंगे और इसमें अगर किसी ने लापरवाही की तो सख्त कार्रवाई होगी।
  • किसानों की उपज पर सरकार किसानों से 1 लाख मिट्रिक टन आलू खरीदेगी।
  • गेहूं की खरीद 487 रुपए प्रति क्वीटल की दर से की जाएगी।
  • गन्ना किसानों को राहत देते हुए मौजूदा बकाए का भुगतान 14 दिनों में कर दिया जाएगा।
  • साथ ही पुराने बकाया का भुगतान 120 दिनों में हो जाएगा।
  • किसानों को एक और राहत देते हुए राज्य सरकार ने बैठक में बिजली बिल पर बकाया सरचार्ज माफ होगा।
  • जिन किसानों का बिल 10 हजार से ज्यादा है वो 4 किश्तों में भुगतान कर सकेंगे।