आर्थिक पैकेज: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण देंगी दूसरी किस्त की जानकारी, चार बजे करेंगी प्रेस कॉन्फ्रेंस

nirmala sitaraman
वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण बोलीं,सरकारी बैंकों ने ढाई महीने में दिए 6.45 लाख करोड़ रुपये के कर्ज

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज शाम चार बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगी। वित्तमंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज से जुड़े विवरण बताएंगी। माना जा रहा है कि मंत्री कृषि क्षेत्र और उससे जुड़ी गतिविधियों को लेकर बड़ा एलान कर सकती हैं। इसके अलावा सप्लाई चेन को दुरुस्त करने के लिए मोदी सरकार की तरफ से बड़ी राहत दिए जाने की उम्मीद है।

Economic Package Finance Minister Nirmala Sitharaman Will Give Information About The Second Installment Press Conference To Be Held At Four Oclock :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज का एलान किया था। इसकी पहली किस्त का ब्योरा वित्त मंत्री ने बुधवार को दिया था। इसमें छोटे उद्योगों में काम करने वालों को काफी राहत दी गई है। आज सीतारमण इसकी दूसरी किस्त की जानकारी देंगी।

वित्त मंत्री ने बुधवार को राहत पैकेज की पहली किस्त का देशवासियों को ब्योरा दिया। उन्होंने कहा कि एमएसएमई को तीन लाख करोड़ रुपये का लोन दिया जाएगा।  एमएसएमई के लिए सरकार छह कदम उठाएगी। वित्त मंत्री ने कहा कि 31 अक्तूबर 2020 से एमएसएमई को लोन की सुविधा मिलेगी। बिना गारंटी के 3 लाख करोड़ तक का लोन दिया जाएगा और 45 लाख एमएसएमई को इसके तहत फायदा होगा। इन्हें एक साल तक मूल धन नहीं चुकाना होगा। तनाव वाली एमएसएमई को 20,000 करोड़ का कर्ज दिया जाएगा।

सरकार ने एमएसएमई की परिभाषा बदल दी है ताकि ज्यादा से ज्यादा उद्योगों और उनमें काम करने वाले लोगों को इसका फायदा मिल सके। अब एक करोड़ रुपये तक निवेश करके पांच करोड़ रुपये तक कारोबार करने वाले उद्योग सूक्ष्म में आएंगे। वहीं 10 करोड़ तक का निवेश करके 50 करोड़ रुपये तक कमाने वाली कंपनियां लघु उद्योग में आएंगी।

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज शाम चार बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगी। वित्तमंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज से जुड़े विवरण बताएंगी। माना जा रहा है कि मंत्री कृषि क्षेत्र और उससे जुड़ी गतिविधियों को लेकर बड़ा एलान कर सकती हैं। इसके अलावा सप्लाई चेन को दुरुस्त करने के लिए मोदी सरकार की तरफ से बड़ी राहत दिए जाने की उम्मीद है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज का एलान किया था। इसकी पहली किस्त का ब्योरा वित्त मंत्री ने बुधवार को दिया था। इसमें छोटे उद्योगों में काम करने वालों को काफी राहत दी गई है। आज सीतारमण इसकी दूसरी किस्त की जानकारी देंगी। वित्त मंत्री ने बुधवार को राहत पैकेज की पहली किस्त का देशवासियों को ब्योरा दिया। उन्होंने कहा कि एमएसएमई को तीन लाख करोड़ रुपये का लोन दिया जाएगा।  एमएसएमई के लिए सरकार छह कदम उठाएगी। वित्त मंत्री ने कहा कि 31 अक्तूबर 2020 से एमएसएमई को लोन की सुविधा मिलेगी। बिना गारंटी के 3 लाख करोड़ तक का लोन दिया जाएगा और 45 लाख एमएसएमई को इसके तहत फायदा होगा। इन्हें एक साल तक मूल धन नहीं चुकाना होगा। तनाव वाली एमएसएमई को 20,000 करोड़ का कर्ज दिया जाएगा। सरकार ने एमएसएमई की परिभाषा बदल दी है ताकि ज्यादा से ज्यादा उद्योगों और उनमें काम करने वाले लोगों को इसका फायदा मिल सके। अब एक करोड़ रुपये तक निवेश करके पांच करोड़ रुपये तक कारोबार करने वाले उद्योग सूक्ष्म में आएंगे। वहीं 10 करोड़ तक का निवेश करके 50 करोड़ रुपये तक कमाने वाली कंपनियां लघु उद्योग में आएंगी।