बड़े आर्थिक सुधारों की वजह से सबसे तेजी से बढ़ी अर्थव्यवस्थाओं में एक बना भारत

नई दिल्ली।वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामले विभाग के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा है कि आर्थिक विकास को बढ़ावा देने एवं वृहद-आर्थिक स्थिरता को बनाये रखने के लिए भारत सरकार द्वारा आरंभ बड़े सुधारों ने भारत को दुनिया में सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्थाओं में से एक बना दिया है। गर्ग शनिवार को अमेरिका के वाशिंगटन डीसी में ‘भारतीय अर्थव्यवस्था: संभावना एवं चुनौतियां‘ विषय पर अमेरिका-भारत रणनीतिक साझीदारी फोरम द्वारा आयोजित विशेष समारोह को संबोधित कर रहे थे।

Economic Reforms Made India One Of The Fastest Developing Economy Of The World :

उन्होंने कहा कि जीएसटी का लागू किया जाना, एक ऐतिहासिक आर्थिक एवं राजनीतिक उपलब्धि को दर्शाता है जो भारतीय कर एवं आर्थिक सुधारों के इतिहास में अभूतपूर्व है और जिसने संरचनात्मक सुधारों को लेकर आशावदिता फिर से जगा दी है। गर्ग ने जोर देते हुए कहा कि भारत ने ऐसे बड़े सुधारात्मक कदम तब उठाए जब वैश्विक अर्थव्यवस्था सुस्त थी।

स्प्रिंग मीटिंग्स के दौरान आयोजित आईएमएफ की अंतरराष्ट्रीय मौद्रिक एवं वित्तीय समिति (आईएमएफसी) के चार सत्रों में से दो सत्रों-आरंभिक चेतावनी अभ्यास (ईडब्ल्यूई) पर प्रारंभिक सत्र एवं प्रबिंधित सत्र का आयोजन कल 20 अप्रैल, 2018 को किया गया। सचिव (ईए) ने दोनों ही सत्रों में भाग लिया।

वाशिंगटन डीसी में विश्व बैंक एवं आईएमएफ की 2018 स्प्रिंग मीटिंग्स के दौरान, आर्थिक मामले विभाग के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने फ्रांस के जनरल डायरेक्टर ऑफ ट्रेजरी ; सीईओ, जीईएफ ; एवं सीईओ, एमआईजीए के साथ भी द्विपक्षीय बैठकें कीं।

उन्होंने वर्तमान में वांशिगटन डीसी में विश्व बैंक एवं आईएमएफ की 2018 स्प्रिंग मीटिंग्स एवं अन्य संबंधित बैठकों में भाग लेने के लिए आधिकारिक यात्रा पर हैं। उनके साथ भारतीय रिजर्व बैंक के गर्वनर उर्जित पटेल एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी आधिकारिक यात्रा पर हैं।

नई दिल्ली।वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामले विभाग के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा है कि आर्थिक विकास को बढ़ावा देने एवं वृहद-आर्थिक स्थिरता को बनाये रखने के लिए भारत सरकार द्वारा आरंभ बड़े सुधारों ने भारत को दुनिया में सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्थाओं में से एक बना दिया है। गर्ग शनिवार को अमेरिका के वाशिंगटन डीसी में ‘भारतीय अर्थव्यवस्था: संभावना एवं चुनौतियां‘ विषय पर अमेरिका-भारत रणनीतिक साझीदारी फोरम द्वारा आयोजित विशेष समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जीएसटी का लागू किया जाना, एक ऐतिहासिक आर्थिक एवं राजनीतिक उपलब्धि को दर्शाता है जो भारतीय कर एवं आर्थिक सुधारों के इतिहास में अभूतपूर्व है और जिसने संरचनात्मक सुधारों को लेकर आशावदिता फिर से जगा दी है। गर्ग ने जोर देते हुए कहा कि भारत ने ऐसे बड़े सुधारात्मक कदम तब उठाए जब वैश्विक अर्थव्यवस्था सुस्त थी। स्प्रिंग मीटिंग्स के दौरान आयोजित आईएमएफ की अंतरराष्ट्रीय मौद्रिक एवं वित्तीय समिति (आईएमएफसी) के चार सत्रों में से दो सत्रों-आरंभिक चेतावनी अभ्यास (ईडब्ल्यूई) पर प्रारंभिक सत्र एवं प्रबिंधित सत्र का आयोजन कल 20 अप्रैल, 2018 को किया गया। सचिव (ईए) ने दोनों ही सत्रों में भाग लिया। वाशिंगटन डीसी में विश्व बैंक एवं आईएमएफ की 2018 स्प्रिंग मीटिंग्स के दौरान, आर्थिक मामले विभाग के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने फ्रांस के जनरल डायरेक्टर ऑफ ट्रेजरी ; सीईओ, जीईएफ ; एवं सीईओ, एमआईजीए के साथ भी द्विपक्षीय बैठकें कीं। उन्होंने वर्तमान में वांशिगटन डीसी में विश्व बैंक एवं आईएमएफ की 2018 स्प्रिंग मीटिंग्स एवं अन्य संबंधित बैठकों में भाग लेने के लिए आधिकारिक यात्रा पर हैं। उनके साथ भारतीय रिजर्व बैंक के गर्वनर उर्जित पटेल एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी आधिकारिक यात्रा पर हैं।