32 लाख एटीएम पिन के चोरी होने की आशंका, तुरंत बदल दें अपने ATM कार्ड का PIN नंबर

ATM
32 लाख एटीएम पिन के चोरी होने की आशंका, तुरंत बदल दें अपने ATM कार्ड का PIN नंबर

नई दिल्ली: यदि आप डेबिट कार्ड इस्तेमाल करते हैं तो यह ख़बर आपके लिए बेहद ही अहम है। खबर आई है कि देशभर में करीब 32 लाख डेबिट कार्ड के डेटा में सेंधमारी हुई है। ये कार्ड अलग-अलग बैंक के हैं। एहतियातन कई बैंकों ने ग्राहकों के डेबिट कार्ड ब्लॉक कर दिए हैं, या उन्हें पिन नंबर बदलने का निर्देश दिया है।

Ecurity Breach Dont Ignore Banks Advice To Change Atm Pin :

ज्ञात हो कि एक दिन पहले ही देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने चुनिंदा ग्राहकों के कार्ड ब्लॉक करने की जानकारी दी थी। इस सेंधमारी से प्रभावित होने वाले डेबिट कार्ड में से 26 लाख कार्ड वीज़ा और मास्टरकार्ड प्लेटफॉर्म के हैं, जबकि 6 लाख कार्ड घरेलू रूपे प्लेटफॉर्म के हैं। ये दावा अखबार ने मामले से जुड़े सूत्रों से हवाले से किया।

इस सेंधमारी से सबसे ज्यादा प्रभावित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, यस बैंक और एक्सिस बैंक के डेबिट कार्ड धारक हुए हैं। गुरुवार को यस बैंक ने एक बयान जारी करके कहा था कि उसे एहतियातन कई एटीएम की सुरक्षा का रिव्यू किया था और उसे इस तरह की सेंधमारी का कोई सबूत नहीं मिला।

एसबीआई ने बुधवार को कहा था कि कार्ड नेटवर्क प्रोवाइडर्स ने उसे कुछ कार्ड की जानकारी लीक होने के बारे में बताया था और एहतियात के तौर पर उसने कार्ड बदलने का फैसला किया है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के आंकड़ों के मुताबिक, जुलाई महीने के अंत तक भारत में 697.2 मिलियन डेबिट कार्ड जारी किए गए हैं।

नई दिल्ली: यदि आप डेबिट कार्ड इस्तेमाल करते हैं तो यह ख़बर आपके लिए बेहद ही अहम है। खबर आई है कि देशभर में करीब 32 लाख डेबिट कार्ड के डेटा में सेंधमारी हुई है। ये कार्ड अलग-अलग बैंक के हैं। एहतियातन कई बैंकों ने ग्राहकों के डेबिट कार्ड ब्लॉक कर दिए हैं, या उन्हें पिन नंबर बदलने का निर्देश दिया है। ज्ञात हो कि एक दिन पहले ही देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने चुनिंदा ग्राहकों के कार्ड ब्लॉक करने की जानकारी दी थी। इस सेंधमारी से प्रभावित होने वाले डेबिट कार्ड में से 26 लाख कार्ड वीज़ा और मास्टरकार्ड प्लेटफॉर्म के हैं, जबकि 6 लाख कार्ड घरेलू रूपे प्लेटफॉर्म के हैं। ये दावा अखबार ने मामले से जुड़े सूत्रों से हवाले से किया।इस सेंधमारी से सबसे ज्यादा प्रभावित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, यस बैंक और एक्सिस बैंक के डेबिट कार्ड धारक हुए हैं। गुरुवार को यस बैंक ने एक बयान जारी करके कहा था कि उसे एहतियातन कई एटीएम की सुरक्षा का रिव्यू किया था और उसे इस तरह की सेंधमारी का कोई सबूत नहीं मिला।एसबीआई ने बुधवार को कहा था कि कार्ड नेटवर्क प्रोवाइडर्स ने उसे कुछ कार्ड की जानकारी लीक होने के बारे में बताया था और एहतियात के तौर पर उसने कार्ड बदलने का फैसला किया है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के आंकड़ों के मुताबिक, जुलाई महीने के अंत तक भारत में 697.2 मिलियन डेबिट कार्ड जारी किए गए हैं।