मीसा भारती के फार्म हाउस को ईडी ने किया अटैच, बढ़ सकतीं हैं मुश्किलें

अपने पति शैलेश और दो बेटियों के साथ मीसा भारती

नई दिल्ली। कालेधन को सफेद करने और उस धन से दिल्ली के बिजवासन इलाके में फार्म हाउस खरीदने के मामले में ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) के रडॉर पर आ चुकीं लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती और उनके पति शैलेश की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रहीं हैं। पिछले करीब छह महीनों से मीसा भारती के खिलाफ छानबीन कर कार्रवाई करने में जुटी ईडी ने मंगलवार को काली कमाई से खरीदे फार्म हाउस को अटैच यानी सील कर दिया है।

मिली जानकारी के मुताबिक ईडी को पुख्ता सुबूत मिले हैं कि 2008—09 में केन्द्रीय रेल मंत्री रहते लालू प्रसाद यादव ने कुछ कारोबारियों को लाभ पहुंचाने के एवज में मोटी रकम बसूली थी। यह रकम फर्जी कंपनियों के माध्यम से लालू की बेटी और दामाद शैलेश के स्वामित्व वाली कंपनी को ट्रांसफर की गई।

{ यह भी पढ़ें:- लालू प्रसाद यादव का पीएम मोदी पर निशाना, 'पहले लोग शेर से डरते थे और अब गाय से' }

ईडी ने इस मामले में पहली कार्रवाई करते हुए 20 मार्च को जैन बंधुओं के रूप में पहचान रखने वाले सुरेन्द्र और वीरेन्द्र जैन को गिरफ्तार किया था। जैन बंधुओं से हुई पूछताछ में इस पूरे मामले में मीसा भारती के चार्टेड अकाउंटेंट रहे राजेश अग्रवाल को ईडी ने 22 मई को हिरासत में लिया था। राजेश अग्रवाल से हुई पूछ ताछ के आधार पर ईडी ने 8 जुलाई को मीसा भारती और शैलेश के ठिकानों पर छापेमारी कर कई अहम और पुख्ता सुबूत भी जुटाए थे। जिनके आधार पर कार्रवाई करते हुए ईडी ने मंगलवार को बिजवासन वाले फार्म हाउस को अटैच किया है।मीसा के सीए राजेश अग्रवाल दिल्ली की तिहाड़ जेल में कैद हैं, ईडी ने अग्रवाल के खिलाफ कालेधन को सफेद करने में मदद करने आरोपों के साथ चार्जशीट दाखिल कर दी है।

बताया जा रहा है कि मीसा भारती और ​शैलेश के संयुक्त स्वामित्व वाली मिशैल नामक कंपनी ने 2008-09 के दौरान  कुछ शैल कंपनियों को अधिग्रहित कर 1.20 करोड़ का मुनाफा कमाया था। इसी रकम से मीसा भारती ने फार्म हाउस खरीदा था। हालांकि मीसा भारती के फार्म हाउस की कीमत कई गुना आंकी जा रही है। एक अनुमान के मुताबिक मीसा भारती ने अपने जिस फार्म हाउस को 1.20 करोड़ में खरीदा था उसके लिए 60 करोड़ से ज्यादा की रकम नगद में चुकाई गई होगी क्योंकि बिजवासन इलाके में फार्म हाउसों की कीमत सौ करोड़ के आस पास बताई जा रही है।

{ यह भी पढ़ें:- बिहार : लालू प्रसाद का शौचालय घोटाले पर 'डर्टी सवाल' }

Loading...