TDP सांसद वाई एस चौधरी के ठिकानों पर ED की छापेमारी, 6 लग्जरी कारें जब्त

TDP सांसद वाई एस चौधरी के ठिकानों पर ED की छापेमारी, 6 लग्जरी कारें जब्त
TDP सांसद वाई एस चौधरी के ठिकानों पर ED की छापेमारी, 6 लग्जरी कारें जब्त

हैदराबाद। आयकर विभाग(आईटी) और प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) ने तेलगू देशम पार्टी (टीडीपी) के सांसद वाई एस चौधरी के हैदराबाद स्थित ठिकानों पर छापा मारा है। शुक्रवार से शुरू छापेमारी की कार्रवाई शनिवार तक जारी रही। ईडी ने फेरारी, रेंज रोवर और मर्सिडीज बेंज सहित चौधरी की छह महंगी कारें जब्त कर ली हैं। केंद्रीय एजेंसी ने उनको अगले सप्ताह पूछताछ के लिए भी बुलाया है।

Ed Raids On Tdp Mp Ys Chaudhary Home And Offices Seizes Six Luxury Cars :

चौधरी के ठिकानों पर छापेमारी मनी लॉन्ड्रिंग और वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों में की गई। ईडी ने टीडीपी सांसद की 6 महंगी कारें जिसमें फरारी, रेंज रोवर, बेंज शामिल हैं जब्त कर ली हैं। ईडी का आरोप कि सुजाना ग्रुप कंपनी ने 5700 करोड़ से ज्यादा का फर्जीवाड़ा किया है। बता दें कि वाईएस चौधरी सुजाना ग्रुप कंपनी के मालिक हैं।

वाईएस चौधरी आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के करीबी बताए जाते हैं। पूर्व मंत्री के ठिकानों पर छापे के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि टीडीपी नेताओं पर मोदी सरकार द्वारा मारे जा रहे छापे यह साफ करते हैं कि अगर एक बार किसी ने बीजेपी का विरोध करना शुरू कर दिया तो शिकारी आपके तेजी से पीछे पड़ जाएंगे। जैसे कि मैं पहले ही सुझाव दे चुका हूं कि राज्य केंद्रीय जांच एजेंसियों पर अपने यहां प्रवेश करने पर बैन लगा दें।

राज्य सरकार ने इस संबंध में एक नोटिफिकेशन जारी कर कहा था कि अब से सीबीआई किसी भी केस में अगर कोई जांच-पड़ताल करना चाहती है या फिर सर्च ऑपरेशन चलाना चाहती है; तो इन सबके लिए सीबीआई को पहले सरकार को बताना होगा, फिर लिखित परमिशन लेनी होगी। बिना इसके किसी भी अधिकारी को राज्य में नहीं आने दिया जाएगा।

ईडी को एक ईमेल मिला था जिसमें शेल कंपनी के निदेशक चौधरी से बातचीत कर रहे थे। ईडी सूत्रों ने कहा कि अधिकारियों ने बैंक ऋण के कथित डाईवर्जन के मामलों में लाभार्थी को खोजने के लिए सुजाना समूह कार्यालयों में छापेमारी की।

अधिकारियों की अलग-अलग टीमों में बंटी थीं जिन्होंने शहर स्थित नागार्जुन हिल्स में स्प्लेन्डिड मेटल प्रोडक्ट्स लिमिटेड और सुजाना यूनिवर्सल इंडस्ट्रीज सहित उनके कंपनी कार्यालयों में छापा मारा। जुबली हिल्स स्थित चौधरी के ऑफिस पर छापेमारी की गई।

हैदराबाद। आयकर विभाग(आईटी) और प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) ने तेलगू देशम पार्टी (टीडीपी) के सांसद वाई एस चौधरी के हैदराबाद स्थित ठिकानों पर छापा मारा है। शुक्रवार से शुरू छापेमारी की कार्रवाई शनिवार तक जारी रही। ईडी ने फेरारी, रेंज रोवर और मर्सिडीज बेंज सहित चौधरी की छह महंगी कारें जब्त कर ली हैं। केंद्रीय एजेंसी ने उनको अगले सप्ताह पूछताछ के लिए भी बुलाया है। चौधरी के ठिकानों पर छापेमारी मनी लॉन्ड्रिंग और वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों में की गई। ईडी ने टीडीपी सांसद की 6 महंगी कारें जिसमें फरारी, रेंज रोवर, बेंज शामिल हैं जब्त कर ली हैं। ईडी का आरोप कि सुजाना ग्रुप कंपनी ने 5700 करोड़ से ज्यादा का फर्जीवाड़ा किया है। बता दें कि वाईएस चौधरी सुजाना ग्रुप कंपनी के मालिक हैं। वाईएस चौधरी आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के करीबी बताए जाते हैं। पूर्व मंत्री के ठिकानों पर छापे के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि टीडीपी नेताओं पर मोदी सरकार द्वारा मारे जा रहे छापे यह साफ करते हैं कि अगर एक बार किसी ने बीजेपी का विरोध करना शुरू कर दिया तो शिकारी आपके तेजी से पीछे पड़ जाएंगे। जैसे कि मैं पहले ही सुझाव दे चुका हूं कि राज्य केंद्रीय जांच एजेंसियों पर अपने यहां प्रवेश करने पर बैन लगा दें। राज्य सरकार ने इस संबंध में एक नोटिफिकेशन जारी कर कहा था कि अब से सीबीआई किसी भी केस में अगर कोई जांच-पड़ताल करना चाहती है या फिर सर्च ऑपरेशन चलाना चाहती है; तो इन सबके लिए सीबीआई को पहले सरकार को बताना होगा, फिर लिखित परमिशन लेनी होगी। बिना इसके किसी भी अधिकारी को राज्य में नहीं आने दिया जाएगा। ईडी को एक ईमेल मिला था जिसमें शेल कंपनी के निदेशक चौधरी से बातचीत कर रहे थे। ईडी सूत्रों ने कहा कि अधिकारियों ने बैंक ऋण के कथित डाईवर्जन के मामलों में लाभार्थी को खोजने के लिए सुजाना समूह कार्यालयों में छापेमारी की। अधिकारियों की अलग-अलग टीमों में बंटी थीं जिन्होंने शहर स्थित नागार्जुन हिल्स में स्प्लेन्डिड मेटल प्रोडक्ट्स लिमिटेड और सुजाना यूनिवर्सल इंडस्ट्रीज सहित उनके कंपनी कार्यालयों में छापा मारा। जुबली हिल्स स्थित चौधरी के ऑफिस पर छापेमारी की गई।