मुस्लिम बच्चों के एक हाथ में हो कुरान तो दूसरे में लैपटॉप: भाजपा

अमेठी। योगी सरकार के मंत्री एवं ज़िले के प्रभारी मंत्री मोहसिन रज़ा का मानना है कि मदरसों में रह कर बच्चे मुख्य धारा से कट रहें है, मोदी सरकार की सोच बताते हुए राजा ने कहा कि हम सब चाहते है कि अल्पसंख्यक बच्चों के हाथों में एक हाथ में कुरआन और एक हाथ में लैपटॉप हो। इसके लिए मदरसों में तिरंगे और राष्ट्रगान की ज़रूरत है। प्रभारी मंत्री रक्षाबंधन के मौके पर प्रशासन द्वारा चलाई गई ‘अनोखी अमेठी के अनोखे भाई’ स्कीम के पुरस्कार वितरण समारोह के मौके पर बतौर मुख्य अतिथि अमेठी पहुंचे थे।

जनता को संबोधित करते हुए मोहनिस राजा ने कहा कि सरकार ने राष्ट्रगान और तिरंगे को लेकर कोई नया सर्कुलर, सख्त निर्देश नहीं जारी किया और न ही कुछ ऐसा लिखा है कि बात का बतंगड़ बनाया जा रहा है। बल्कि हमेशा सरकारों ने ये किया होगा और उसी परिपेक्ष ये भी निर्देश था। उन्होंने कहा कि ये एक ऐसा सर्कुलर है जो देश के उन होनहार बच्चों के लिए भेजा गया था जो मदरसों में रहकर मुख्यधारा से कटे थे।

{ यह भी पढ़ें:- महकमा मेहरबान तो सरकारी भवन बना प्राइवेट 'गोदाम' }

मोहसिन रज़ा ने कहा कि सरकार की मंशा थी कि मदरसों में जो बालक-बालिकाएं आते हैं उनको भी पता चलना चाहिए कि देश की आज़ादी क्या होती है। देश की आज़ादी में किन लोगों ने बलिदान दिया था वो कौन लोग थे? राष्ट्रगान क्या है, उसमें क्या कहा जा रहा है राष्ट्र के प्रति? इसलिए के यही एक ऐसा पर्व है जिस दिन बच्चा खिलौने और टाफी की ज़िद नहीं करता बल्कि तिरंगे की ज़िद करता है। तो उसे इसके बारे में पता होना चाहिए।

{ यह भी पढ़ें:- जमीनी रंजिश में खूनी तांडव, फायरिंग से आधा दर्जन घायल, दो की हालत नाजुक }

Loading...