एक कुंतल सब्जियों से सजा शिवलिंग, जानिये वजह

लखनऊ। सावन के इस पवित्र महीने में सभी मंदिरों में भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ लगती है। सारे भक्त भगवान शिव से अपने दुखों को हर लेने की प्रार्थना करते हुए नजर आते हैं। कुंवारी लड़कियां अच्छा वर मिलने के लिए भगवान शिव की आराधना करती हैं। लखनऊ में स्थित द्वादश ज्योर्तिलिंग धाम में कुछ और ही देखने को मिला। यहां शिव भक्तों ने बढ़ती महंगाई से निजात पाने के लिए कुछ अलग ही अंदाज़ में भगवान शिव की आराधना की।

Ek Kuntal Sabjiyo Se Saja Shivling Janiye Wajah :

मामला लखनऊ के सदर बाजार का है। यहां स्थित द्वादश ज्योर्तिलिंग धाम में श्रद्धालुओं ने सब्जियों में बढ़ती महंगाई को दूर करने के लिए भगवान भोलेनाथ का सब्जियों से शृंगार कर उनसे प्रार्थना की। इस शृंगार में लगभग एक कुंतल हरी सब्जियां इस्तेमाल की गईं। जिसमे 5 किलो टमाटर, इसके अलावा लौकी, तोरई, कद्दू, पालक, भिंडी, खीरा, परवल, लुभिया, सहजन, नींबू, बैंगन, गोभी, मूली, बंधा, चुकंदर, आलू, गाजर, सेब और कमल के फूल जैसी चीजें शामिल थीं।

लखनऊ। सावन के इस पवित्र महीने में सभी मंदिरों में भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ लगती है। सारे भक्त भगवान शिव से अपने दुखों को हर लेने की प्रार्थना करते हुए नजर आते हैं। कुंवारी लड़कियां अच्छा वर मिलने के लिए भगवान शिव की आराधना करती हैं। लखनऊ में स्थित द्वादश ज्योर्तिलिंग धाम में कुछ और ही देखने को मिला। यहां शिव भक्तों ने बढ़ती महंगाई से निजात पाने के लिए कुछ अलग ही अंदाज़ में भगवान शिव की आराधना की।मामला लखनऊ के सदर बाजार का है। यहां स्थित द्वादश ज्योर्तिलिंग धाम में श्रद्धालुओं ने सब्जियों में बढ़ती महंगाई को दूर करने के लिए भगवान भोलेनाथ का सब्जियों से शृंगार कर उनसे प्रार्थना की। इस शृंगार में लगभग एक कुंतल हरी सब्जियां इस्तेमाल की गईं। जिसमे 5 किलो टमाटर, इसके अलावा लौकी, तोरई, कद्दू, पालक, भिंडी, खीरा, परवल, लुभिया, सहजन, नींबू, बैंगन, गोभी, मूली, बंधा, चुकंदर, आलू, गाजर, सेब और कमल के फूल जैसी चीजें शामिल थीं।