पीएम मोदी के हेलिकॉप्टर की जांच करने वाला आईएएस अफसर निलंबित

d

नई दिल्ली। ओडिशा के संबलपुर में मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉप्टर की जांच करने वाले 1996 बैच व कर्नाटक काडर के आईएएस अफसर मोहम्मद मोहसिन को बुधवार को चुनाव आयोग ने निलंबित कर दिया। वह संबलपुर लोकसभा क्षेत्र में सामान्य पर्यवेक्षक के तौर पर तैनात थे।

Election Commission Suspends General Observer After Modis Helicopter Was Inspected :

आयोग के आदेश में कहा गया है कि मोहसिन ने एसपीजी सुरक्षा के तहत गणमान्य व्यक्तियों के निर्देशों के अनुरूप अपनी ड्यूटी को अंजाम नहीं दिया। इसलिए उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जा रहा है। जिला कलेक्टर और पुलिस महानिदेशक की रिपोर्ट के आधार पर आयोग ने संबलपुर के जनरल पर्यवेक्षक को घटना के एक दिन बाद निलंबित कर दिया गया।

घटना मंगलवार को हुई। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि संबलपुर में प्रधानमंत्री के हेलीकॉप्टर की जांच करना निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों के तहत नहीं था। एसपीजी सुरक्षा प्राप्त लोगों को ऐसी जांच से छूट प्राप्त होती है। मोहम्मद मोहसिन को अगले आदेशों तक संबलपुर में ही रुकने को कहा गया है। मोहसिन कर्नाटक कैडर के आईएएस ऑफिसर हैं।

भारत निर्वाचन आयोग सभी संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में सामान्य पर्यवेक्षकों की नियुक्ति करता है ताकि स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव हो सके। पारदर्शिता और स्थानीय प्रशासन से दूरी सुनिश्चित करने के लिए ये हमेशा राज्य के बाहर के अधिकारी होते हैं। हाल ही में चुनाव आयोग की टीम ने कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा और उड़ीसा के सीएम नवीन पटनायक के हेलिकॉप्टरों की भी तलाशी ली थी।

नई दिल्ली। ओडिशा के संबलपुर में मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉप्टर की जांच करने वाले 1996 बैच व कर्नाटक काडर के आईएएस अफसर मोहम्मद मोहसिन को बुधवार को चुनाव आयोग ने निलंबित कर दिया। वह संबलपुर लोकसभा क्षेत्र में सामान्य पर्यवेक्षक के तौर पर तैनात थे। आयोग के आदेश में कहा गया है कि मोहसिन ने एसपीजी सुरक्षा के तहत गणमान्य व्यक्तियों के निर्देशों के अनुरूप अपनी ड्यूटी को अंजाम नहीं दिया। इसलिए उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जा रहा है। जिला कलेक्टर और पुलिस महानिदेशक की रिपोर्ट के आधार पर आयोग ने संबलपुर के जनरल पर्यवेक्षक को घटना के एक दिन बाद निलंबित कर दिया गया। घटना मंगलवार को हुई। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि संबलपुर में प्रधानमंत्री के हेलीकॉप्टर की जांच करना निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों के तहत नहीं था। एसपीजी सुरक्षा प्राप्त लोगों को ऐसी जांच से छूट प्राप्त होती है। मोहम्मद मोहसिन को अगले आदेशों तक संबलपुर में ही रुकने को कहा गया है। मोहसिन कर्नाटक कैडर के आईएएस ऑफिसर हैं। भारत निर्वाचन आयोग सभी संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में सामान्य पर्यवेक्षकों की नियुक्ति करता है ताकि स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव हो सके। पारदर्शिता और स्थानीय प्रशासन से दूरी सुनिश्चित करने के लिए ये हमेशा राज्य के बाहर के अधिकारी होते हैं। हाल ही में चुनाव आयोग की टीम ने कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा और उड़ीसा के सीएम नवीन पटनायक के हेलिकॉप्टरों की भी तलाशी ली थी।