1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. जम्मू-कश्मीर में परिसीमन बगैर चुनाव संभव नहीं : उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा

जम्मू-कश्मीर में परिसीमन बगैर चुनाव संभव नहीं : उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा

जम्मू-कश्मीर में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शनिवार को एक न्यूज चैनल को इंटरव्यू दिया है। इस दौरान उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में परिसीमन बगैर चुनाव संभव नहीं है। सिन्हा ने कहा कि मेरे लिए गुपकार कोई गैंग नहीं है। उन्होंने कहा कि कश्मीर के नेताओं से मेरी व्यक्तिगत मुलाकात होती है

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शनिवार को एक न्यूज चैनल को इंटरव्यू दिया है। इस दौरान उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में परिसीमन बगैर चुनाव संभव नहीं है। सिन्हा ने कहा कि मेरे लिए गुपकार कोई गैंग नहीं है। उन्होंने कहा कि कश्मीर के सभी दलों के नेताओं से मेरी व्यक्तिगत मुलाकात होती है। जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा की स्थिति नियंत्रण में है, लेकिन ड्रोन हाल में एक चुनौती बनकर उभरा है।

पढ़ें :- ढोल नगाड़े के साथ भारत में हुआ PV Sindhu का स्वागत, कहा- अब PM modi के साथ Ice Cream खाएंगी

लोकतंत्र में है पूरी हमारी पूरी आस्था 

उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि लोकतंत्र में पूरी हमारी पूरी आस्था है। उन्होंने कहा कि हमने इससे पहले DDC के चुनाव करवाए हैं। एलजी ने कहा कि मुझसे पीएम ने कहा था कि कश्मीर में जल्द चुनाव कराकर लोकतंत्र की बहाली की जाएगी। पीएम मोदी की लोकतंत्र में गहरी आस्था है, इसका जिक्र उन्होंने लाल किले की प्राचीर से भी किया था। लोगों में विश्वास पैदा करना हमारी जिम्मेदारी है। हमने इससे पहले डीडीसी चुनाव कराए थे, जहां कोई हिंसा नहीं हुई। जिन जिलों में कभी वोटिंग नहीं होती थी, वहां भी 40 फीसदी तक वोट पड़े। उन्होंने बताया कि हमने पंचायती राज का त्रिस्तरीय मॉडल (गांव, ब्लॉक और विधानसभा) लागू कर दिया है।

LG मनोज सिन्हा ने कहा कि मेरे लिए गुपकार कोई गैंग नहीं

LG मनोज सिन्हा ने कहा कि मेरे लिए गुपकार कोई गैंग नहीं है। मैं नहीं मानता। मेरा उनसे संवाद होता रहता है। लेकिन एकता व अखंडता पर खतरा होगा तो इसकी इजाजत किसी को भी नहीं देंगे। क्या बैठक में महबूबा ने पीएम के सामने पाकिस्तान का जिक्र किया? मनोज सिन्हा ने कहा कि बैठक में पीएम के साथ किसी ने भी कोई आपत्तिजनक बात नहीं की। अगर पाकिस्तान से सीजफायर आदि की बात होती है तो इसमें बुराई नहीं है।

पढ़ें :- PMGKAY : पीएम मोदी, बोले- दिवाली तक देश के गरीबों को दिया जाएगा मुफ्त राशन

परिसीमन की जरूरत क्यों?

परिसीमन के सवाल पर एलजी ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद परिसीमन जरूरी है। ये कानून संसद से पारित हुआ है और चुनाव आयोग इस पर काम करता है। ये हमारे कार्य क्षेत्र में नहीं है। 6 जुलाई को परिसीमन आयोग के लोग कश्मीर पहुंच रहे हैं। इस काम को तेजी से बढ़ाया जाएगा और फिर चुनाव की ओर रुख किया जाएगा। बिना परिसीमन के कश्मीर में चुनाव नहीं हो सकते,पहले परिसीमन फिर चुनाव।

जम्मू कश्मीर में चुनाव होंगे, सही समय पर मिलेगा राज्य का दर्जा 

उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में चुनाव होंगे, सही समय पर राज्य का दर्जा भी मिलेगा। फिलहाल कश्मीर में सुरक्षा की स्तिथि नियंत्रण में है। एक नया और उभरता हुआ जम्मू कश्मीर बन रहा है, जहां विकास की अनंत संभावनाएं हैं। हम वापस इसे भारत का ताज बनवाने की प्रक्रिया प्रधानमंत्री के साथ मिलकर पूरी करेंगे।

अनुछेद 370 के हटाए जाने के बाद से कश्मीर में क्या-क्या बदलाव आये? मनोज सिन्हा ने कहा कि इस पर एक अध्ययन करने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि आतंक, पत्थरबाजी, शांति समेत कई मुद्दों पर काम हुआ है। हाई वे ,टनल बन रहे हैं। जम्मू कश्मीर टूरिस्ट हब के तौर विकसित हो रहा है। वहीं कोरोना काल में टीकाकरण बड़े स्तर हो रहा है। अस्पताल, ऑक्सीजन, दवा की सप्लाई हो रही है। कई जिलों में 90 फीसदी से ज्यादा टीकाकरण हो रहा है।

पढ़ें :- संसद, संविधान और लोकतंत्र का अपमान कर रहे हैं विपक्षी दल, जानिए पीएम मोदी ने क्यों कहीं ये बातें...

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...