मुजफ्फरपुर मामला : बालिका गृह संचालक पर दर्ज हुई एक और एफआईआर

mujaffernager case
मुजफ्फरपुर मामला : बालिका गृह संचालक पर दर्ज हुई एक और एफआईआर

पटना। बिहार के मुजफ्फरपुर में बालिका गृह के संचालक ब्रजेश ठाकुर के खिलाफ एक और मामला दर्ज किया गया है। पड़ताल में पता चला कि उसका एक और शेल्टर होम चलता था, जहां से 11 महिलाएं गायब है। बता दें कि उसके एक दूसरे महिला ग्रह में 34 लड़कियों से रेप की पुष्टि डाक्टरों ने की थी। फिलहाल पुलिस ने ब्रजेश ठाकुर को गिरफ्तार किया जा चुका है। बताया जा रहा है ​ब्रजेश ठाकुर शहर के ताकतवर लोगों में एक था। फिलहाल इस पूरे मामले की जांच सीबीआई कर रही है।

Eleven Women Missing Accused Brijesh Thakurs Shelter Homes :

बता दें कि पिछले 5 साल में करीब 450 लड़कियां ब्रजेश ठाकुर के बालिका गृह में लाई गई थीं। कुछ हफ्ते पहले तक इसी बालिका गृह में रह रहीं 42 लड़कियों का जब मेडिकल टेस्ट किया गया तो 29 के साथ रेप की बात सामने आई। जिसके बाद पांच अन्य लड़कियों के साथ दुराचार की पुष्टि हुई है। इसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। पुलिस के मुताबिक दो लड़कियों के बीमार होने के कारण उनकी जांच नहीं हो पाई थी।

पुलिस के मुताबिक इस सनसनीखेज घटना के बाद हरकत में आई पुलिस ने संचालक ब्रजेश ठाकुर सहित किरण कुमारी, मंजू देवी, इन्दू कुमारी, चन्दा देवी, नेहा कुमारी, हेमा मसीह, विकास कुमार एवं रवि कुमार रौशन हैं। एक अन्य फरार दिलीप कुमार वर्मा की गिरफ्तारी के लिए प्रयास जारी हैं। बालिका गृह को 31 मई से बंद करने के साथ ही ब्लैक लिस्ट कर दिया गया।

पटना। बिहार के मुजफ्फरपुर में बालिका गृह के संचालक ब्रजेश ठाकुर के खिलाफ एक और मामला दर्ज किया गया है। पड़ताल में पता चला कि उसका एक और शेल्टर होम चलता था, जहां से 11 महिलाएं गायब है। बता दें कि उसके एक दूसरे महिला ग्रह में 34 लड़कियों से रेप की पुष्टि डाक्टरों ने की थी। फिलहाल पुलिस ने ब्रजेश ठाकुर को गिरफ्तार किया जा चुका है। बताया जा रहा है ​ब्रजेश ठाकुर शहर के ताकतवर लोगों में एक था। फिलहाल इस पूरे मामले की जांच सीबीआई कर रही है।बता दें कि पिछले 5 साल में करीब 450 लड़कियां ब्रजेश ठाकुर के बालिका गृह में लाई गई थीं। कुछ हफ्ते पहले तक इसी बालिका गृह में रह रहीं 42 लड़कियों का जब मेडिकल टेस्ट किया गया तो 29 के साथ रेप की बात सामने आई। जिसके बाद पांच अन्य लड़कियों के साथ दुराचार की पुष्टि हुई है। इसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। पुलिस के मुताबिक दो लड़कियों के बीमार होने के कारण उनकी जांच नहीं हो पाई थी।पुलिस के मुताबिक इस सनसनीखेज घटना के बाद हरकत में आई पुलिस ने संचालक ब्रजेश ठाकुर सहित किरण कुमारी, मंजू देवी, इन्दू कुमारी, चन्दा देवी, नेहा कुमारी, हेमा मसीह, विकास कुमार एवं रवि कुमार रौशन हैं। एक अन्य फरार दिलीप कुमार वर्मा की गिरफ्तारी के लिए प्रयास जारी हैं। बालिका गृह को 31 मई से बंद करने के साथ ही ब्लैक लिस्ट कर दिया गया।