अब रिटायरमेंट पर मिलने वाले EPF पर भी देना होगा ब्याज

अगर आप भी नौकरी छोड़ने के बाद इसी उम्मीद में बैठे हैं कि EPF पर आपको ब्याज मिलेगा तो आपको बता दें कि ईपीएफ़ पर भी देना होगा टैक्स। यदि आप काम नहीं कर रहे हैं और फिर भी आपका ईपीएफ अकाउंट ऐक्टिव है तो आपको उस पर मिलने वाले ब्याज पर भी टैक्स देना पड़ेगा। इनकम टैक्स ऐपलेट ट्राइब्यूनल (ITAT) ने अपने निर्देश में स्पष्ट कहा कि नौकरी छोड़ने के बाद या फिर रिटायर होने के बाद आप अपने पीएफ खाते पर जो भी ब्याज कमाते हैं, उस पर आपको टैक्स देना होता है।

आईटीएटी में जारी किए गए नियम के मुताबिक, यह नियम सिर्फ उन पर लागू नहीं होगा जो रिटायर हो चुके हैं, बल्कि उन पर भी होगा जो किसी भी कारण से नौकरी छोड़ चुके हैं। पिछले साल नवंबर में जारी नोटिफिकेशन में स्पष्ट किया गया था कि जब कोई कर्मचारी अपनी नौकरी से इस्तीफा देता है या नौकरी से टर्मिनेट कर दिया जाता है तो उसके बाद उसका ईपीएफ अकाउंट ‘ऑपरेटिव’ कैटिगरी में रहता है और उस पर उसे तब तक ब्याज मिलता है जब तक वह उसे विड्रॉल नहीं करता या दूसरी नौकरी करने पर उसे ट्रांसफर नहीं कराता।

{ यह भी पढ़ें:- GST के नाम पर ना कटे जेब, रखें इन 6 बातों का ध्यान }

बता दें कि रिटायर्ड कर्मचारी के लिए नियम थोड़े अलग होंगे। अगर कोई व्यक्ति 55 साल की उम्र के बाद रिटायर होता है और अपने ईपीएफ खाते से विड्रॉल नहीं करता है या बैलेंस ट्रांसफर नहीं करता है तो उसके रिटायरमेंट की तारीख से तीन साल बाद उनके ईपीएफ खाते को ‘इनऑपरेटिव’ कैटिगरी में डाल दिया जाता है, इस कैटिगरी के खातों पर कोई ब्याज नहीं मिलता है।

{ यह भी पढ़ें:- भारत सरकार अब सोशल मीडिया से जुटाएगी आपके टैक्स की जानकारी }

Loading...