1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. रोजगार का बढ़ा संकट: अप्रैल में गईं 75 लाख लोगों की नौकरी, सीएमआईई की रिपोर्ट में दावा

रोजगार का बढ़ा संकट: अप्रैल में गईं 75 लाख लोगों की नौकरी, सीएमआईई की रिपोर्ट में दावा

कोरोना संकट की दूसरी लहर ने देश को झकझोर दिया है। कोरोना महामहारी से मचे हाहाकार के बीच अब लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट भी मंडराने लगा है। कोरोना की रोकथाम के लिए लगाई गई पाबांदियों से 75 लाख से अधिक लोगों की नौकरियां गईं हैं।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Employment Crisis 75 Lakh People Lost Jobs In April Cmie Report Claims

नई दिल्ली। कोरोना संकट की दूसरी लहर ने देश को झकझोर दिया है। कोरोना महामहारी से मचे हाहाकार के बीच अब लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट भी मंडराने लगा है। कोरोना की रोकथाम के लिए लगाई गई पाबांदियों से 75 लाख से अधिक लोगों की नौकरियां गईं हैं।

पढ़ें :- विधि विधान पूजा के साथ खुले केदारनाथ धाम के कपाट, तीर्थ पुरोहित ही पूजा में हुए शामिल

वहीं, इससे बेरोजगारी दर चार महीने के उच्च स्तर 8 प्रतिशत पर पहुंच गई है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन एकोनॉमी (सीएमआईई) ने सोमवार को ये बातें कहीं हैं। सीएमआईई के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) महेश व्यास ने कहा कि कोरोना संकट के बाद आने वाले समय में रोजगार को लेकर बड़ी चुनौती रहेगी।

उन्होंने कहा कि मार्च की तुलना में देखें अप्रैल में सबसे ज्यादा 75 लाख लोगों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा है। इसके कारण बेरोजगारी दर में बढ़ोत्तरी हुई है। केंद्र सरकार के आंकड़े के अनुसार राष्ट्रीय बेरोजगारी दर 7.97 प्रतिशत पहुंच गई है। शहरी क्षेत्रों में 9.78 प्रतिशत जबकि ग्रामीण स्तर पर बेरोजगारी दर 7.13 प्रतिशत है।

वहीं, इससे पहले, मार्च में राष्ट्रीय बेरोजगारी दर 6.50 प्रतिशत थी और ग्रामीण तथा शहरी दोनों जगह यह दर अपेक्षाकृत कम थी। कोविड-19 महामारी बढ़ने के साथ कई राज्यों ने ‘लॉकडाउन’ समेत अन्य पाबंदियां लगाई हैं। इससे आर्थिक गतिविधियों पर प्रतिकूल असर पड़ा और फलस्वरूप नौकरियां प्रभावित हुई हैं।

 

पढ़ें :- देश का ये राज्य एक जून तक लॉकडाउन, कोरोना रिपोर्ट है निगेटिव तभी मिलेगी एंट्री

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X