बेनामी संपत्ति मामले में मीसा और शैलेष भारती के खिलाफ ईडी की चार्जशीट दाखिल

बेनामी संपत्ति मामले में मीसा और शैलेष भारती के खिलाफ ईडी की चार्जशीट दाखिल

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने हजार करोड़ की बेनामी संपत्ति के मामले में राज्यसभा सांसद मीसा भारती और उनके पति शैलेष भारती के खिलाफ शनिवार को दिल्ली की ​पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है। यह खबर ऐसे समय आई है जब चारा घोटाले में फंसे मीसा भारती के पिता और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को लेकर रांची हाईकोर्ट फैसला सुनाने वाला है।

लालू प्रसाद यादव के बेटी मीसा भारती और उनके पति शैलेष भारती से ईडी ने बेनामी संपत्ति मामले में कई बार पूछताछ करने के बाद चार्जशीट दाखिल की है। ईडी का मानना है कि लालू प्रसाद यादव के रेलमंत्री रहते बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेष भारती के स्वामित्व वाली कंपनी को शेल कंपनियों के माध्यम से बड़े स्तर पर आर्थिक लाभ पहुंचाया गया। इसी पैसे के निवेश से मीसा और शैलेष ने दिल्ली के बिजवासन इलाके में फार्म हाउस समेंत अन्य बेनामी संपत्तियां बनाई हैं।

{ यह भी पढ़ें:- राजद प्रमुख को सजा देने वाले न्यायाधीश को चाहिए शस्त्र लाइसेंस! }

ईडी ने मीसा और शैलेष के संयुक्त स्वामित्व वाले इस फार्म हाउस को कई पूछताछ के बाद जब्त कर लिया था। बताया जा रहा है कि जिस समय मीसा और शैलेष ने यह फार्म हाउस खरीदा था उस समय इसकी मार्केट कीमत करीब 100 करोड़ थी जबकि इसे खरीदते समय कीमत कुछ करोड़ ही दिखाई गई थी।

ईडी ने मीसा भारती और उनके पति के खिलाफ शुरू की अपनी जांच के दौरान उनके तीन ठिकानों पर छापेमारी करने के बाद कई बार पूछताछ करने के बाद चार्जशीट को तैयार किया है। सूत्रों की माने तो लालू प्रसाद यादव द्वारा बतौर रेलमंत्री निजी कंपनियों को ठेकों में लाभ पहुंचाने की सौदेबाजी के बदले मीसा भारती को 1000 करोड़ के लाभ पहुंचाए गए। जिसका निवेश उन्होंने करोड़ों की बेनामी संपत्तियां बनाने में किया है।

{ यह भी पढ़ें:- हार्दिक पटेल ने 'थामा' लालटेन, तेजस्वी ने दिया करारा जवाब }

Loading...