गोवा में एस्कार्ट सर्विस के लिए मांगे जा रहे आधार

युवाओं के लिए गोवा मौज मस्ती करने का ठिकाना है। गोवा के कई होटलों में एस्कार्ट सर्विसेज यानी काल गर्ल्स की डिमांड भी पूरी करते हैं। चूंकि यह कारोबार पूरी तरह से गैरकानूनी है, इसलिए होटल के कर्मचारी इस धंधे को पूरी विश्वसनीयता से करने के लिए अपने ग्राहकों से आधार कार्ड की डिमांड करने लगे हैं।

ऐसी घटना हाल ही में दिल्ली से गोवा घूमने गए लड़कों के साथ घटी। जब उन्होंने होटल के एक कर्मचारी के सामने अपनी ईच्छा जाहिर की तो उसने हामी भरते हुए उन सभी से अपना आधार कार्ड जमा करने को कहा। जिसके बाद कर्मचारी ने युवकों के आधार कार्ड के आधार पर छानबीन करने के बाद उनके आधार कार्ड वापस लौटा दिए।

{ यह भी पढ़ें:- लुटेरे करते रहें हथौड़े से वार फिर भी गार्ड ने नहीं मानी हार }

एक रिपोर्ट के मुताबिक एस्कार्ट सर्विस प्रोवाइडर्स पुलिस वालों से बचने के लिए ऐसा कर रहे हैं। वे आधार कार्ड के डिटेल के आधार पर ग्राहकों के विषय में छानबीन करने के बाद ही सेवा उपलब्ध करवाते हैं। ग्राहक की डिटेल ठीक लगने के बाद वे आधार कार्ड वापस लौटा देते हैं।

होटलों में एस्कार्ट सर्विस पहुंचाने से पहले आधार कार्ड की फोटो और होटर रूम की चाभी की फोटो तक मांगी जाती है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि बीच में पुलिस का कोई षड्यंत्र तो नहीं है।

{ यह भी पढ़ें:- इस बच्ची को जन्म के महज छह मिनट बाद मिल गया 'आधार' }

ठगी या ब्लैकमेलिंग का हो सकते हैं शिकार —

गोवा जाने वाले युवकों को विदेशी लड़कियों के माध्यम से ठगी का शिकार बनाने का धंधा लंबे समय से चला आ रहा है। ऐसा बताया जा रहा है कि आधार की डिटेल लेकर एस्कार्ट सर्विस प्रोवाइडर लोगों को अपना शिकार बना सकते हैं। कई बार लड़कियों के साथ आपत्तिजनक तस्वीरें लेकर ग्राहकों को ब्लैकमेल किया जाता है। विशेषकर घर से दूर रहकर पढ़ाई करने वाले छात्रों को ये लोग अपना लक्ष्य बनाते हैं, क्योंकि ऐसे युवक अपने घरवालों की जानकारी के बिना ही ​मौज मस्ती के लिए निकल जाते हैं। जिसका फायदा ठग खूब उठाते हैं।

{ यह भी पढ़ें:- गोवा की बसों से हटेगा सनी लियोन का 'कंडोम विज्ञापन' }

Loading...