पूर्व जासूस हत्या मामला : नाटो ने 7 रूसी राजनयिकों को निकाला

पूर्व जासूस हत्या मामला
पूर्व जासूस हत्या मामला : नाटो ने 7 रूसी राजनयिकों को निकाला

ब्रसेल्स। सेलिसबरी में रूस द्वारा कथित तौर पर पूर्व जासूस पर नर्व एजेंट हमले को लेकर रूसी राजनयिकों को निष्कासित करने वालों में नाटो का नाम भी जुड़ गया है। ट्रांस अटलांटिक संगठन नाटो ने मंगलवार को घोषणा कि उसने सात रूसी अधिकारियों से मान्यता वापस ले ली है।

सूत्रों के मुताबिक, ब्रसेल्स में एक संवाददाता सम्मेलन में महासचिव जेंस स्टोलनबर्ग ने कहा कि संदिग्ध नर्व एजेंट हमला, जिसके कारण सर्गेई स्क्रिपल व उनकी बेटी यूलिया अपने जीवन से संघर्ष कर रहे हैं, नाटो क्षेत्र में अपनी तरह का पहला हमला है। उन्होंने कहा कि नाटो के 25 सहयोगियों व साझेदारों ने प्रतिक्रिया के तौर पर 140 रूसी राजनयिकों को निष्कासित कर दिया है।

{ यह भी पढ़ें:- अमेरिका के विरोध के बावजूद भारत रूस से खरीदेगा एस-400 }

नॉर्वे के राजनीतिज्ञ ने कहा, “नाटो आगे के कदम उठाने के लिए एकजुट है। मैंने आज नाटो के रूसी मिशन में कार्यरत सात कर्मचारियों की मान्यता वापस ले ली है। मैं तीन अन्य लोगों की लंबित मान्यता को भी अस्वीकार कर दूंगा।”

उन्होंने कहा कि यह रूस के लिए स्पष्ट संदेश है कि उसे अपने दुस्साहसी व्यवहार के परिणाम भुगतने होंगे।

{ यह भी पढ़ें:- रूस में पुतिन की पार्टी से विधायक बना बिहारी }

ब्रसेल्स। सेलिसबरी में रूस द्वारा कथित तौर पर पूर्व जासूस पर नर्व एजेंट हमले को लेकर रूसी राजनयिकों को निष्कासित करने वालों में नाटो का नाम भी जुड़ गया है। ट्रांस अटलांटिक संगठन नाटो ने मंगलवार को घोषणा कि उसने सात रूसी अधिकारियों से मान्यता वापस ले ली है। सूत्रों के मुताबिक, ब्रसेल्स में एक संवाददाता सम्मेलन में महासचिव जेंस स्टोलनबर्ग ने कहा कि संदिग्ध नर्व एजेंट हमला, जिसके कारण सर्गेई स्क्रिपल व उनकी बेटी यूलिया अपने जीवन से संघर्ष…
Loading...