1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. यूरोपीय सांसदों ने कहा-कश्मीर के लोग शांति और विकास चाहते हैं, दौरे को राजनीतिक नजर से न देंखे

यूरोपीय सांसदों ने कहा-कश्मीर के लोग शांति और विकास चाहते हैं, दौरे को राजनीतिक नजर से न देंखे

By शिव मौर्या 
Updated Date

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के दौरे पर गए यूरोपीय सांसदों ने आज प्रेस कॉफ्रेंस किया। उन्होंने कहा कि, आतंकवाद एक वैश्विक समस्या है। इसके साथ ही मीडिया द्वारा दौरे को लेकर की गई रिपोर्टिंग की भी आलोचना की। उन्होंने कहा कि, हमारे दौरे को गलत प्रचारित किया गया। उन्होंने कहा कि हमने सेना से आतंक से निपटने के तरीके पूछे। हमारे दौरे पर विवाद गलत है। 40 साल में 20 से ज्यादा बार भारत आया। पाकिस्तान के दौरे पर भी जा चुका हूं।

कश्मीरी लोग शांति और विकास चाहते हैं। इसके साथ ही उन्होंन कहा कि, इस दौरे को राजनीतिक नजर से न देंखे।यूरोपीय संसद के सदस्य थेरी मरियानी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, मैं करीब 20 बार भारत आ चुका हूं। इससे पहले दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु जैसे शहरों में गया था। हमारा लक्ष्य जम्मू-कश्मीर को लेकर जानकारी हासिल करना था।

उन्होंने कहा कि, कश्मीर में स्थितियां अब सुलझने को हैं। इस दौरान एक सांसद ने कहा कि, आतंकवाद वैश्विक समस्या है, जिससे हम सभी लोग जूझ रहे हैं। उन्होंने कहा कि, आतंकवाद के मामले में वह भारत के समर्थन में है। यूरोपीय सांसदों ने बताया कि दौरे के समय वह ऐक्टिविस्ट्स से मुलाकात की, जिन्होंने शांति को लेकर अपना विजन बताया।

मरियानी ने कहा कि हमने सिविल सोसायटी के लोगों से भी मीटिंग की। उनके अलावा युनाइटेड किंगडम के यूरोपीय सांसद बिल न्यूटन ने मंगलवार को मजदूरों की हत्या को दर्दनाक बताया। उन्होंने आतंकियों की ओर से ऐसी हत्याएं किया जाना दर्दनाक है। एक अन्य सांसद ने कहा कि हमें भारत को समर्थन करने की जरूरत है। भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...