1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. कोरोना संकट के दौरान भी हमारे देश के कृषि क्षेत्र ने अपना दमखम दिखाया : पीएम मोदी

कोरोना संकट के दौरान भी हमारे देश के कृषि क्षेत्र ने अपना दमखम दिखाया : पीएम मोदी

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ के जरिए देशवासियों को संबोधित किया। अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कृषि विधेयक का जिक्र करते हुए कहा कि अब किसानों को अपनी फसल बेचने की ताकत मिल गई है। उन्होंने कहा कि हमारे यहां कहा जाता है, जो जमीन से जितना जुड़ा होता है, वो बड़े से बड़े तूफानों में भी अडिग रहता है।

पढ़ें :- ओपी राजभर का निशाना, कहा-अखिलेश नहीं चाहते थे शिवपाल उनके साथ आएं 

कोरोना के इस कठिन समय में हमारा कृषि क्षेत्र, हमारा किसान इसका जीवंत उदाहरण है। पीएम ने कहा कि मुझे किसानों के द्वारा लिखी गईं चिट्ठियां मिलती हैं। किसान संगठनों से मेरी बात होती है, जो बताते हैं कि कैसे खेती में नए-नए आयाम जुड़ रहे हैं, कैसे खेती में बदलाव आ रहा है। पीएम ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान भी हमारे देश के कृषि क्षेत्र ने अपना दमखम दिखाया है।

देश का कृषि क्षेत्र, हमारे किसान, हमारे गांव, आत्मनिर्भर भारत का आधार हैं, ये मजबूत होंगे तो आत्मनिर्भर भारत की नींव मजबूत होगी। पीएम ने हरियाणा के सोनीपत जिले के एक किसान कंवर चौहान के बारे में बताया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, श्री चौहान ने बताया है कि कैसे एक समय था जब उन्हें मंडी से बाहर अपने फल और सब्जियां बेचने में बहुत दिक्कत आती थी।

अगर वो मंडी से बाहर, अपने फल और सब्जियां बेचते थे, तो कई बार उनके फल, सब्जी और गाड़ियां तक जब्त हो जाती थीं। लेकिन 2014 में फल और सब्जियों को एपीएमसी अधिनियम से बाहर कर दिया गया। इसका उन्हें और आस-पास के साथी किसानों को बहुत फायदा हुआ। आज, श्री कंवर चौहान जी और उनके गांव के किसान स्वीट कॉर्न और बेबी कॉर्न की खेती से, ढाई से तीन लाख प्रति एकड़ सालाना कमाई कर रहे हैं।

 

पढ़ें :- देश के इन हिस्सो में बारिश के कारण  आ गया है भूचाल, मौसम विभाग ने जारी किया ऐलो अलर्ट

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...