लॉकडाउन में था सब कुछ लॉक, मध्य प्रदेश में फल फूल रहा था देह व्यापार का धंधा

Sex racket

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में लॉकडाउन के दौरान भी वाट्सएप के जरिये देह व्यापार हो रहा था। शहर की पिपलानी थाना पुलिस ने एक मकान में छापा मारकर इसका भंडाफोड़ किया। पुलिस ने यहां से पांच महिलाओं, एक दलाल और एक ग्राहक को गिरफ्तार किया है। वहीं, एक ग्राहक चकमा देकर भाग गया। गिरोह की सरगना 39 वर्षीय महिला है। वह प्रदेश के इंदौर, महाराष्ट्र, झारखंड से जुड़ी है। पुलिस को ऐसे कॉल रिकॉर्ड और संदेश मिले हैं, जिनसे पता चलता है कि ग्राहकों की मांग पर विदेशी कॉलगर्ल भी बुलाई जाती थी।

Everything Was Under Lockdown Body Trade Was Flourishing In Madhya Pradesh :

पिपलानी थाने के प्रभारी चैन सिंह के अनुसार मंगलवार दोपहर को सूचना मिली थी कि छत्रसाल नगर में लोगों का एक मकान में बहुत आना-जाना हो रहा है। आशंका है कि महिलाएं देह व्यापार कर रही है। इसके बाद एक आरक्षक को सादा कपड़ों में उनके पास भेजा गया। उसके द्वारा सिग्नल मिलने पर टीम ने मकान में दबिश दी।

वहां महिलाओं के साथ दो युवक आपत्तिजनक हालत में मिले। इस बीच प्रताप गौतम नाम का युवक चकमा देकर भाग गया। कार्रवाई के दौरान पांच महिलाओं, ग्राम मेहतवाड़ सीहोर के रहने वाले अजय सिंह और डीआइजी बंगला क्षेत्र निवासी मिथुन को गिरफ्तार किया गया। मिथुन ही महिलाओं के लिए ग्राहक लाता था। किराये के इस मकान में दिसंबर 2019 से यह काम किया जा रहा था।

सीएसपी अंकित जायसवाल ने बताया कि गिरोह ने एक वाट्सएप गु्रप भी बनाया हुआ है। इसके जरिये ग्राहकों को फोटो भेजे जाते थे। आरोपित महिलाएं पहली बार पुलिस गिरफ्त में आई हैं। इस गिरोह का लिंक अयोध्या नगर में पूर्व में पकड़े गए देह व्यापार गिरोह से जुड़ रहा है। पता चला है कि पहले यही गिरोह भोपाल के कोलार में सक्रिय रहा था। पुलिस को आशंका है कि पूर्व में पकड़े गए ब्लैकमेलिंग गिरोह से आरोपित महिलाओं के संबंध हो सकते हैं।

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में लॉकडाउन के दौरान भी वाट्सएप के जरिये देह व्यापार हो रहा था। शहर की पिपलानी थाना पुलिस ने एक मकान में छापा मारकर इसका भंडाफोड़ किया। पुलिस ने यहां से पांच महिलाओं, एक दलाल और एक ग्राहक को गिरफ्तार किया है। वहीं, एक ग्राहक चकमा देकर भाग गया। गिरोह की सरगना 39 वर्षीय महिला है। वह प्रदेश के इंदौर, महाराष्ट्र, झारखंड से जुड़ी है। पुलिस को ऐसे कॉल रिकॉर्ड और संदेश मिले हैं, जिनसे पता चलता है कि ग्राहकों की मांग पर विदेशी कॉलगर्ल भी बुलाई जाती थी। पिपलानी थाने के प्रभारी चैन सिंह के अनुसार मंगलवार दोपहर को सूचना मिली थी कि छत्रसाल नगर में लोगों का एक मकान में बहुत आना-जाना हो रहा है। आशंका है कि महिलाएं देह व्यापार कर रही है। इसके बाद एक आरक्षक को सादा कपड़ों में उनके पास भेजा गया। उसके द्वारा सिग्नल मिलने पर टीम ने मकान में दबिश दी। वहां महिलाओं के साथ दो युवक आपत्तिजनक हालत में मिले। इस बीच प्रताप गौतम नाम का युवक चकमा देकर भाग गया। कार्रवाई के दौरान पांच महिलाओं, ग्राम मेहतवाड़ सीहोर के रहने वाले अजय सिंह और डीआइजी बंगला क्षेत्र निवासी मिथुन को गिरफ्तार किया गया। मिथुन ही महिलाओं के लिए ग्राहक लाता था। किराये के इस मकान में दिसंबर 2019 से यह काम किया जा रहा था। सीएसपी अंकित जायसवाल ने बताया कि गिरोह ने एक वाट्सएप गु्रप भी बनाया हुआ है। इसके जरिये ग्राहकों को फोटो भेजे जाते थे। आरोपित महिलाएं पहली बार पुलिस गिरफ्त में आई हैं। इस गिरोह का लिंक अयोध्या नगर में पूर्व में पकड़े गए देह व्यापार गिरोह से जुड़ रहा है। पता चला है कि पहले यही गिरोह भोपाल के कोलार में सक्रिय रहा था। पुलिस को आशंका है कि पूर्व में पकड़े गए ब्लैकमेलिंग गिरोह से आरोपित महिलाओं के संबंध हो सकते हैं।