पूर्व केन्द्रिय मंत्री जसवंत सिंह के बेटे भाजपा विधायक मानवेन्द्र सिंह ने छोड़ा बीजेपी का दामन

पूर्व केन्द्रिय मंत्री जसवंत सिंह के बेटे भाजपा विधायक मानवेन्द्र सिंह ने छोड़ा बीजेपी का दामन
पूर्व केन्द्रिय मंत्री जसवंत सिंह के बेटे भाजपा विधायक मानवेन्द्र सिंह ने छोड़ा बीजेपी का दामन

नई दिल्ली। राजस्थान में हाल ही में होने वाले विधानसभा चुनावों से ठीक पहले भाजपा को एक तगड़ा झटका लगा। यहां से भाजपा विधायक एक पूर्व केन्द्रिय मंत्री के बेटे ने पार्टी का दामन छोड़ दिया। पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह के बेटे और भाजपा विधायक मानवेंद्र सिंह ने शनिवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। बाड़मेर के शिव विधानसभा क्षेत्र से विधायक मानवेंद्र ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भाजपा छोड़ने की घोषणा की।

Ex Cabinet Ministers Son And Bjp Mla Left The Bjp In Rajasthan :

बताया जा रहा है कि इससे पहले पचपरदा में स्वाभिमान रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कमल का फूल, बड़ी भूल कहते हुए भाजपा में शामिल होने को बड़ी भूल बताया। पत्रकारों ने इस दौरान जब उनसे कांग्रेस में शामिल होने के बारे में पूछा तो उन्होने कहा कि अभी इस इस संबंध में अभी कोई फैसला नहीं लिया है। जैसे ही किसी निर्णय पर पहुंचेंगे, सार्वजनिक रूप से सभी को बता दिया जाएगा।

बता दें कि मानवेंद्र और भाजपा के रिश्ते चार साल से तल्ख बने हुए थे। भाजपा ने 2014 लोकसभा चुनाव में उनके पिता जसवंत सिंह को बाड़मेर से टिकट देने से मना कर दिया था। इसके बाद से उनके परिवार और भाजपा के रिश्ते खराब होने लगे थे और आखिरकार शनिवार को मानवेन्द्र सिंह ने पार्टी छोड़ने की घोषणा कर दी।

नई दिल्ली। राजस्थान में हाल ही में होने वाले विधानसभा चुनावों से ठीक पहले भाजपा को एक तगड़ा झटका लगा। यहां से भाजपा विधायक एक पूर्व केन्द्रिय मंत्री के बेटे ने पार्टी का दामन छोड़ दिया। पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह के बेटे और भाजपा विधायक मानवेंद्र सिंह ने शनिवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। बाड़मेर के शिव विधानसभा क्षेत्र से विधायक मानवेंद्र ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भाजपा छोड़ने की घोषणा की।बताया जा रहा है कि इससे पहले पचपरदा में स्वाभिमान रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कमल का फूल, बड़ी भूल कहते हुए भाजपा में शामिल होने को बड़ी भूल बताया। पत्रकारों ने इस दौरान जब उनसे कांग्रेस में शामिल होने के बारे में पूछा तो उन्होने कहा कि अभी इस इस संबंध में अभी कोई फैसला नहीं लिया है। जैसे ही किसी निर्णय पर पहुंचेंगे, सार्वजनिक रूप से सभी को बता दिया जाएगा।बता दें कि मानवेंद्र और भाजपा के रिश्ते चार साल से तल्ख बने हुए थे। भाजपा ने 2014 लोकसभा चुनाव में उनके पिता जसवंत सिंह को बाड़मेर से टिकट देने से मना कर दिया था। इसके बाद से उनके परिवार और भाजपा के रिश्ते खराब होने लगे थे और आखिरकार शनिवार को मानवेन्द्र सिंह ने पार्टी छोड़ने की घोषणा कर दी।