पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने मोदी समर्थकों को दी गाली, पीएम थे निशाना

विरासत को छोड़कर आगे बढ़ने वालों की पहचान खत्म होना तय: पीएम मोदी

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सूचना एवं प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी का एक ट्वीट रविवार को उनकी आलोचना का कारण बन गया। दरअसल तिवारी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तंज कसने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन उन्होंने अपने जज्बात जिन शब्दों के साथ जाहिर किए वे विवादों में आ गए हैं। उनके इस ट्वीट पर लोगों की नकारात्मक प्रतिक्रियाएं आ रहीं हैं।

{ यह भी पढ़ें:- कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से निलम्बित हुए मणिशंकर अय्यर, पीएम मोदी को बोला था 'नीच' }

मनीष तिवारी ने बिना किसी मुद्दे को उठाए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन के अवसर पर उनके और उनके समर्थकों पर हमला बोलने की सोची थी। जिसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री की देशभक्ति पर सवाल उठाते हुए महात्मा गांधी का नाम भी शामिल कर लिया, लेकिन इस बीच वह यह भूल गए कि उन्होंने जिन शब्दों के साथ महात्मा गांधी के नाम को लिखा वह सभ्य समाज में अपशब्द और असंसदीय माने जाते हैं।

मनीष तिवारी के ट्वीट के बाद आने वाली प्रतिक्रियाओं में उन्हें तरह तरह के सुझाव मिल रहे हैं। कोई उन्हें फ्रस्ट्रेट कह रहा है तो कोई उन्हेंं ऐसे शब्दों के चयन से पहले अपने राजनीतिक कद को ध्यान देने की दुहाई दे रहा है। वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो मनीष तिवारी को उनकी ही भाषा में जवाब देते नजर आ रहे हैं।

हालांकि इस बीच भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने तिवारी को ट्विटर पर जवाब देते हुए उन्हें भाषा की मर्दाया का ध्यान दिलाया है।

{ यह भी पढ़ें:- जिग्नेश मेवाणी ने हमले के पीछे बताया बीजेपी की साजिश, बोले- डरने वालों में से नहीं हूं }

Loading...