पूर्व विदेश मंत्री ने खाली किया सरकारी आवास, सोशल मीडिया पर खूब हो रही तारीफ

shushma swaraj
पूर्व विदेश मंत्री ने खाली किया सरकारी आवास, सोशल मीडिया पर खूब हो रही तारीफ

नई दिल्ली। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार को अपन सरकारी आवास खाली कर दिया। ये फैसला उन्होने नई सरकार के शपथ ग्रहण के महीने भर के भीतर ही बिना किसी दबाव के लिया, जिसके चलते सोशल मीडिया पर लोग उनकी खूब तारीफ कर रहे हैं। बता दें कि बीजेपी की इस दिग्गज नेता सुषमा स्वराज ने लोकसभा चुनाव 2019 में चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया था। इसके साथ ही उन्होने पीएम मोदी से रिस्वेस्ट भी की थी कि उन्हे मंत्री न बनाया जाए।

Ex External Affairs Minister Emptied Government Housing Highly Appreciated On Social Media :

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार की सुबह ट्वीट किया. मैंने दिल्ली स्थित 8 सफदरजंग लेन का अपना सरकारी आवास खाली कर दिया है। कृपया नोट कर लें कि अब मैं पुराने पते और फोन नंबर पर उपलब्ध नहीं रहूंगी। वहीं अब सोशल मीडिया पर उनकी खूब तारीफ कर रहे हैं, लोगों का कहना है कि एक ओर जहां सरकारी आवास छोड़ने और न छोड़ने को लेकर नेताओं को कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हैं, वहीं खुद सुषमा स्वराज ने अपना सरकारी आवास खाली कर एक नया उदाहरण पेश किया है।

एक यूजर ने लिखा. माननीय आपका पता और ठिकाना करोड़ों भारतीय और विदेशी लोगों के दिलों में जिन्हें आपने बिना भेदभाव किये मदद करी और बहुत लोगों को तो लगभग जीवन दान दिया है हम सभी आपके अच्छे स्वस्थ जीवन की कामना करते हैं।

नई दिल्ली। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार को अपन सरकारी आवास खाली कर दिया। ये फैसला उन्होने नई सरकार के शपथ ग्रहण के महीने भर के भीतर ही बिना किसी दबाव के लिया, जिसके चलते सोशल मीडिया पर लोग उनकी खूब तारीफ कर रहे हैं। बता दें कि बीजेपी की इस दिग्गज नेता सुषमा स्वराज ने लोकसभा चुनाव 2019 में चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया था। इसके साथ ही उन्होने पीएम मोदी से रिस्वेस्ट भी की थी कि उन्हे मंत्री न बनाया जाए। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार की सुबह ट्वीट किया. मैंने दिल्ली स्थित 8 सफदरजंग लेन का अपना सरकारी आवास खाली कर दिया है। कृपया नोट कर लें कि अब मैं पुराने पते और फोन नंबर पर उपलब्ध नहीं रहूंगी। वहीं अब सोशल मीडिया पर उनकी खूब तारीफ कर रहे हैं, लोगों का कहना है कि एक ओर जहां सरकारी आवास छोड़ने और न छोड़ने को लेकर नेताओं को कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हैं, वहीं खुद सुषमा स्वराज ने अपना सरकारी आवास खाली कर एक नया उदाहरण पेश किया है। एक यूजर ने लिखा. माननीय आपका पता और ठिकाना करोड़ों भारतीय और विदेशी लोगों के दिलों में जिन्हें आपने बिना भेदभाव किये मदद करी और बहुत लोगों को तो लगभग जीवन दान दिया है हम सभी आपके अच्छे स्वस्थ जीवन की कामना करते हैं।