शिवराज सिंह चौहान का पार्टी में बढ़ा कद, बनाए गए सदस्यता अभियान के राष्ट्रीय प्रभारी

shivraj singh chauhan
शिवराज सिंह चौहान का पार्टी में बढ़ा कद, बनाए गए सदस्यता अभियान के राष्ट्रीय प्रभारी

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान को पार्टी ने एक बड़ी जिम्मेदारी दी है। अब वो पार्टी के राष्ट्रीय सदस्यता अभियान के प्रमुख बनाए गए हैं। अब बीजेपी का सदस्यता अभियान उनके नेतृत्व में चलेगा।

Ex Mp Cm Shivraj Singh Became The Head Of Bjp Membership Campaign Committee :

बता दें कि शिवराज सिंह चौहान फिर मेन स्ट्रीम में आ गए हैं। इस जिम्मेदारी के बाद उनका कद पार्टी में और ज्यादा बढ़ गया है। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने उन्हें नयी और महत्वपूर्ण ज़िम्मेदारी सौंप दी है। दिल्ली में बीजेपी की राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में उन्हें ये नई जिम्मेदारी दी गयी।

वहीं शिवराज सिंह चौहान के साथ ही चार सह प्रभारी भी बनाए गए हैं। जो चौहान का साथ देंगे। बता दें कि बीजेपी के अभी तक 11 करोड़ सदस्य हो चुके हैं, ऐसे में ये बड़ी जिम्मेदारी है। बता दें कि 2018 में मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी की हार के बाद से शिवराज सिंह के राजनीतिक भविष्य को लेकर लगातार अटकलें लग रही थीं, जिसके बाद उन्हे पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया गया था।

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान को पार्टी ने एक बड़ी जिम्मेदारी दी है। अब वो पार्टी के राष्ट्रीय सदस्यता अभियान के प्रमुख बनाए गए हैं। अब बीजेपी का सदस्यता अभियान उनके नेतृत्व में चलेगा। बता दें कि शिवराज सिंह चौहान फिर मेन स्ट्रीम में आ गए हैं। इस जिम्मेदारी के बाद उनका कद पार्टी में और ज्यादा बढ़ गया है। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने उन्हें नयी और महत्वपूर्ण ज़िम्मेदारी सौंप दी है। दिल्ली में बीजेपी की राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में उन्हें ये नई जिम्मेदारी दी गयी। वहीं शिवराज सिंह चौहान के साथ ही चार सह प्रभारी भी बनाए गए हैं। जो चौहान का साथ देंगे। बता दें कि बीजेपी के अभी तक 11 करोड़ सदस्य हो चुके हैं, ऐसे में ये बड़ी जिम्मेदारी है। बता दें कि 2018 में मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी की हार के बाद से शिवराज सिंह के राजनीतिक भविष्य को लेकर लगातार अटकलें लग रही थीं, जिसके बाद उन्हे पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया गया था।