पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने की चुनाव आयोग की तारीफ, कहा- शानदार तरीके से कराया चुनाव

pranav
पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने की चुनाव आयोग की तारीफ, कहा- शानदार तरीके से कराया चुनाव

नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने चुनाव आयोग की सोमवार को सराहना करते हुए कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव शानदार तरीके से संपन्न कराया गया। मुखर्जी का यह बयान ऐसे समय आया है जब विपक्षी दल लगातार चुनाव आयोग को निशाना बना रहे हैं। मुखर्जी ने एक पुस्तक के विमोचन के मौके पर यहां कहा कि पहले चुनाव आयुक्त सुकुमार सेन के समय से लेकर मौजूदा चुनाव आयुक्तों तक संस्थान ने बहुत अच्छे से काम किया है।

Ex President Pranab Mukhrjee Hails Ec Says Polls Were Conducted Perfectly :

उन्होंने कहा कि कार्यपालिका तीनों आयुक्तों को नियुक्त करती है और वे अपना काम अच्छे से कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘आप उनकी आलोचना नहीं कर सकते हैं, यह चुनाव का सही रवैया है।’ मुखर्जी ने कहा, ‘यदि लोकतंत्र सफल हुआ है, यह मुख्यत: सुकुमार सेन से लेकर मौजूदा चुनाव आयुक्तों द्वारा अच्छे से चुनाव संपन्न कराने के कारण है।’

मुखर्जी की इस टिप्पणी से एक दिन पहले कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष चुनाव आयोग का आत्मसमर्पण स्वाभाविक है और चुनाव आयोग अब निष्पक्ष या सम्मानित नहीं रह गया है। विपक्षी दल चुनाव आयोग के कथित तौर पर बीजेपी के प्रति झुकाव रखने को लेकर आयोग की आलोचना करते रहे हैं।

नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने चुनाव आयोग की सोमवार को सराहना करते हुए कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव शानदार तरीके से संपन्न कराया गया। मुखर्जी का यह बयान ऐसे समय आया है जब विपक्षी दल लगातार चुनाव आयोग को निशाना बना रहे हैं। मुखर्जी ने एक पुस्तक के विमोचन के मौके पर यहां कहा कि पहले चुनाव आयुक्त सुकुमार सेन के समय से लेकर मौजूदा चुनाव आयुक्तों तक संस्थान ने बहुत अच्छे से काम किया है। उन्होंने कहा कि कार्यपालिका तीनों आयुक्तों को नियुक्त करती है और वे अपना काम अच्छे से कर रहे हैं। उन्होंने कहा, 'आप उनकी आलोचना नहीं कर सकते हैं, यह चुनाव का सही रवैया है।' मुखर्जी ने कहा, 'यदि लोकतंत्र सफल हुआ है, यह मुख्यत: सुकुमार सेन से लेकर मौजूदा चुनाव आयुक्तों द्वारा अच्छे से चुनाव संपन्न कराने के कारण है।' मुखर्जी की इस टिप्पणी से एक दिन पहले कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष चुनाव आयोग का आत्मसमर्पण स्वाभाविक है और चुनाव आयोग अब निष्पक्ष या सम्मानित नहीं रह गया है। विपक्षी दल चुनाव आयोग के कथित तौर पर बीजेपी के प्रति झुकाव रखने को लेकर आयोग की आलोचना करते रहे हैं।