गोरखपुर BRD अस्पताल मामले में पूर्व प्राचार्य और उनकी पत्नी अरेस्ट, STF ने की कार्रवाई

rajiv-mishra

लखनऊ। गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में ऑक्सीज़न की कमी से हुई मासूमों की मौत मामले में जिम्मेदार अस्पताल के पूर्व प्राचार्य डॉ. राजीव मिश्रा और उनकी पत्नी पूर्णिमा मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनके खिलाफ राजधानी लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली में मामला दर्ज किया गया था। यूपी एसटीएफ़ की टीम ने दोनों को कानपुर के किदवई नगर, साकेतनगर इलाके से गिरफ्तार किया है। एसटीएफ़ की टीम दोनों आरोपियों से अलग-अलग पूछताछ कर रही है।

मंगलवार सुबह पुलिस और मेडिकल विभाग की टीम ने इसी मामले में नामजद डॉ. कफील खान के घर भी छापेमारी कर तलाशी ली। टीम ने उनके घर से कुछ अहम दस्तावेज भी कब्जे में लिए हैं।

{ यह भी पढ़ें:- औरैया में सोते समय दो साधुओं की निर्मम हत्या, 1 की हालत गंभीर }

ये है मामला-

बता दें कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 10 व 11 अगस्त को अधिक बच्चों की मौत होने के बाद गोरखपुर के जिलाधिकारी को जांच सौंपी गई थी। डीएम की रिपोर्ट में मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य से लेकर कई अन्य जिम्मेदार डॉक्टरों को लापरवाही का तो दोषी माना गया था, लेकिन ऑक्सीजन की कमी की बात सामने नहीं आई थी।

{ यह भी पढ़ें:- वन विभाग ट्री गार्ड के साथ करायेगा पौधारोपण }

लखनऊ। गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में ऑक्सीज़न की कमी से हुई मासूमों की मौत मामले में जिम्मेदार अस्पताल के पूर्व प्राचार्य डॉ. राजीव मिश्रा और उनकी पत्नी पूर्णिमा मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनके खिलाफ राजधानी लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली में मामला दर्ज किया गया था। यूपी एसटीएफ़ की टीम ने दोनों को कानपुर के किदवई नगर, साकेतनगर इलाके से गिरफ्तार किया है। एसटीएफ़ की टीम दोनों आरोपियों से अलग-अलग पूछताछ कर रही है। मंगलवार सुबह पुलिस और…
Loading...