1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मोदी कैबिनेट का विस्तार: फेरबदल में यूपी को मिलेगी तवज्जो, इन चेहरों को मंत्रिमंडल में किया जा सकता है शामिल

मोदी कैबिनेट का विस्तार: फेरबदल में यूपी को मिलेगी तवज्जो, इन चेहरों को मंत्रिमंडल में किया जा सकता है शामिल

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 से पहले मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में पहला कैबिनेट विस्तार होने जा रहा है। आशंका जताई जा रही है कि आज शाम या कल तक मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले नए चेहरों के नामों का ऐलान कर दिया जायेगा। सूत्रों की माने तो इसको लेकर बीजेपी के शीर्ष नेताओं की बैठक जारी है। वहीं, कैबिनेट फेरबदल में यूपी को तवज्जो दी जा सकती है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 से पहले मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में पहला कैबिनेट विस्तार होने जा रहा है। आशंका जताई जा रही है कि आज शाम या कल तक मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले नए चेहरों के नामों का ऐलान कर दिया जायेगा। सूत्रों की माने तो इसको लेकर बीजेपी के शीर्ष नेताओं की बैठक जारी है। वहीं, कैबिनेट फेरबदल में यूपी को तवज्जो दी जा सकती है।

पढ़ें :- Amit Shah's Lucknow visit: पूर्व सीएम कल्याण सिंह सिंह से मिलने पीजीआई पहुंचे अमित शाह

यूपी कोटे से करीब चार से पांच मंत्री शामिल हो सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक इस बाबात पीएम नरेंद्र मोदी की मुख्यमंत्री से बात भी हुई है। बता दें कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर तैयारियां जारी हैं। ऐसे में जातीय समीकरण ओरर सहयोगियों को साधने की कोशिश मंत्रिमंडल विस्तार के माध्यम से हो सकती है।

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों को देखते हुए जातीय और वर्गीय संतुलन साधने के लिए ब्राह्रण चेहरे के रूप में प्रदेश की पूर्व मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, सत्यदेव पचौरी और सासंद रमापति राम त्रिपाठी में से किसी एक को लिया जा सकता है। वहीं, युवा चेहरों के नाम पर कई बार के सांसद वरुण गांधी को भी मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की संभावनाएं दिख रही हैं। जबकि दलित चेहरे के रूप में पूर्व केंद्रीय मंत्री रामशंकर कठेरिया का नाम लिया जा रहा है।

इसके साथ ही सहयोगी दलों में अपना दल की अनुप्रिया पटेल का नाम लगभग तय हो चुका है। सूत्रों के मूताबिक 24 से 48 घण्टे में मोदी मंत्रीमंडल का विस्तार होगा। मोदी मंत्रिमंडल विस्तार में करीब 22 नए मंत्री शामिल किए जा सकते हैं और कुछ पुराने मंत्रियों की छुट्टी भी हो सकती है। कुछ मंत्रियों को संगठन में भेजा जा सकता है। मौजूदा मंत्रिपरिषद में कुल 53 मंत्री हैं और नियमानुसार अधिकतम मंत्रियों की संख्या 81 हो सकती है।

 

पढ़ें :- Akhilesh Yadav, बोले- 2022 में भाजपा की गेंद यूपी के स्टेडियम से पार भेजेंगे युवा

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...