पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट, चार लड़कियों की मौत

eta
पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट, चार लड़कियों की मौत

एटा। एटा के मिरहची क्षेत्र में शनिवार को एक पटाखा फैक्ट्री में जोरदार धमाका हो गया। विस्फोट की चपेट में आने से चार लड़कियों की मौत हो गई है, जबकि कई लोग घायल हुए हैं। धमाका इतनी जबरदस्त था कि फैक्ट्री के पास बने मकान भी ढह गए हैं। सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन के आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए। फिलहाल राहत-बचाव कार्य जारी है। अभी कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है।

Explosion In Firecracker Factory Four Girls Died :

पुलिस के मुताबिक कस्बा मिरहची के मोहल्ला गड्ढा स्थित एक मकान में आतिशबाजी बनाई जा रही थी। मुन्नी देवी पत्नी लालाराम के नाम पटाखा फैक्ट्री का लाइसेंस है। शनिवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे मकान में तेज धमाका हुआ।
धमाकों की आवाज सुनकर लोग दहशत में आ गए। घटनास्थल पर चीख-पुकार मच गई। चारों ओर धुंआ ही धुआं छा गया। जब धुआं छटा तो मंजर देख लोग की रूह कांप गई। घटनास्थल पर दूर-दूर तक मांस के लोथड़े पड़े हुए थे। धमाकों से आसपास के कई मकान भी क्षतिग्रस्त हो गए।

मरने वालों में रंजनी पुत्री टाइगर, शीतल पुत्री चन्द्रपाल (16 वर्ष), सोनी पत्नी मुनीम और खुशीना हैं। जबकि माधुरी पुत्री चंद्रपाल, देवी पत्नी चन्द्रपाल, मुन्नीदेवी पत्नी लालाराम, नूतन पत्नी सिकंदर, मीरा देवी, रिषभ पुत्र नीरज बाबू, प्रतीक पुत्र टाइगर, पूजा सहित कई लोग घायल हैं।

घटना की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी और एसएसपी सहित कई अफसर मौके पर पहुंच गए है। राहत बचाव कार्य जारी है। बताया गया है कि पटाखा फैक्टरी में 15 से अधिक लोग मौजूद थे। इनमें कई बच्चे व महिलाएं भी शामिल हैं। कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है।

एटा। एटा के मिरहची क्षेत्र में शनिवार को एक पटाखा फैक्ट्री में जोरदार धमाका हो गया। विस्फोट की चपेट में आने से चार लड़कियों की मौत हो गई है, जबकि कई लोग घायल हुए हैं। धमाका इतनी जबरदस्त था कि फैक्ट्री के पास बने मकान भी ढह गए हैं। सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन के आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए। फिलहाल राहत-बचाव कार्य जारी है। अभी कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। पुलिस के मुताबिक कस्बा मिरहची के मोहल्ला गड्ढा स्थित एक मकान में आतिशबाजी बनाई जा रही थी। मुन्नी देवी पत्नी लालाराम के नाम पटाखा फैक्ट्री का लाइसेंस है। शनिवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे मकान में तेज धमाका हुआ। धमाकों की आवाज सुनकर लोग दहशत में आ गए। घटनास्थल पर चीख-पुकार मच गई। चारों ओर धुंआ ही धुआं छा गया। जब धुआं छटा तो मंजर देख लोग की रूह कांप गई। घटनास्थल पर दूर-दूर तक मांस के लोथड़े पड़े हुए थे। धमाकों से आसपास के कई मकान भी क्षतिग्रस्त हो गए। मरने वालों में रंजनी पुत्री टाइगर, शीतल पुत्री चन्द्रपाल (16 वर्ष), सोनी पत्नी मुनीम और खुशीना हैं। जबकि माधुरी पुत्री चंद्रपाल, देवी पत्नी चन्द्रपाल, मुन्नीदेवी पत्नी लालाराम, नूतन पत्नी सिकंदर, मीरा देवी, रिषभ पुत्र नीरज बाबू, प्रतीक पुत्र टाइगर, पूजा सहित कई लोग घायल हैं। घटना की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी और एसएसपी सहित कई अफसर मौके पर पहुंच गए है। राहत बचाव कार्य जारी है। बताया गया है कि पटाखा फैक्टरी में 15 से अधिक लोग मौजूद थे। इनमें कई बच्चे व महिलाएं भी शामिल हैं। कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है।