1. हिन्दी समाचार
  2. Facebook ने किया दावा कहा मंच का गलत उपयोग करने वाले लोगों पर लगेगी रोक विशेष टीमें कर रही काम

Facebook ने किया दावा कहा मंच का गलत उपयोग करने वाले लोगों पर लगेगी रोक विशेष टीमें कर रही काम

Facebook Claims That People Who Misuse The Platform Will Be Banned From Doing Special Teams Work

By सोने लाल 
Updated Date

नई दिल्ली। फेसबुक ने मंगलवार को कहा कि मंच का गलत इरादे से उपयोग करने वाले लोगों को रोकने के लिए उसके पास विशेष टीमें हैं। उसने यह भी कहा कि कंपनी ने समन्वित रूप से अप्रामाणिक व्यवहार में शामिल 100 से अधिक नेटवर्क को अपने मंच से हटाया भी है। फेसबुक का यह बयान कंपनी के एक पूर्व कर्मचारी के आरोप के बाद आया है।

पढ़ें :- Mi Smart स्पीकर भारत में हुआ लॉन्च, कुछ इस तरह करता है काम

कर्मचारी ने आरोप लगाया है कि कंपनी ने अपने मंच पर फर्जी खाता रखने वालों की अनदेखी या कार्रवाई में ढीला रुख अपनाया। इन खातों के जरिए वैश्विक स्तर पर चुनावों और राजनीतिक मामलों को प्रभावित करने का प्रयास किया गया।

बजफीड न्यूज’ ने फेसबुक कर्मचारी द्वारा लिखे गए आंतरिक पत्र के हवाले से इस बारे में रिपोर्ट दी है। पत्र फेसबुक की पूर्व डाटा वैज्ञानिक शोफी झांग ने लिखा है। इसमें कहा गया है कि कई देशों की सरकार तथा राजनीतिक दलों के प्रमुख फर्जी खातों का इस्तेमाल कर जनमत को प्रभावित करते हैं।

फेसबुक के प्रवक्ता ने इस बारे में मंगलवार को कहा कि हमने गलत इरादा रखने वाले लोगों को अपने मंच का दुरुपयोग करने से रोकने के लिए विशेष टीमें बनाई हैं जिसमें प्रमुख विशेषज्ञ शामिल हैं। इसी का परिणाम है कि अप्रामाणिक व्यवहार में शामिल 100 से अधिक नेटवर्क को मंच से हटाया गया है।

प्रवक्ता ने कहा कि अप्रामाणिक या गलत इरादों वालीं गतिविधियों के साथ मंच का दुरुपयोग करने वालों के खिलाफ काम करना कंपनी की प्राथमिकता है। उसने कहा कि हम कार्रवाई या उसके बारे में सार्वजनिक रूप से कोई दावा करने से पहले हर मामले की सावधानीपूर्वक जांच करते हैं। इसमें झांग द्वारा उठाया गया मसला भी शामिल है।

पढ़ें :- 1 अक्टूबर का राशिफल: इस राशि के शत्रुओं की हर चाल होगी नाकाम, और इस राशि वालों के खुलेंगे भाग्य

उल्लेखनीय है कि ‘वॉल स्ट्रीट’ की रिपोर्ट के बाद से फेसबुक को आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ की एक रिपोर्ट में आरोप लगाया गया कि सोशल मीडिया कंपनी की विषय को लेकर नीति भारत में सत्तारूढ़ दल का समर्थन करती है। उसके बाद से सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्षी कांग्रेस इस मामले को लेकर एक-दूसरे की आलोचना करते रहे हैं। (भाषा)

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...