Facebook उपभोक्ताओं का डेटा अभी भी असुरक्षित: रिपोर्ट

facebook consumers data unsafe
Facebook उपभोक्ताओं के डेटा अभी भी असुरक्षि : रपट
लंदन। ब्रिटिश परामर्शदाता कंपनी कैंब्रिज एनलिटिका के दावों के बावजूद कि उसने 5.5 करोड़ facebook उपभोक्ताओं के डेटा डिलीट कर दिए हैं, डेटा का बहुत बड़ा भाग अभी भी नियंत्रण से बाहर है। ब्रिटेन के 'चैनल 4 न्यूज' की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कैंब्रिज एनलिटिका के एक सूत्र के विवरण से अमेरिका के कोलोराडो राज्य के 136,000 लोगों के डेटा 'हर व्यक्ति के व्यक्तित्व व मनोवैज्ञानिक प्रोफाइल के साथ गुप्त जगह पर हैं। रपट में कहा गया है, "कैंब्रिज एनलिटिका द्वारा…

लंदन। ब्रिटिश परामर्शदाता कंपनी कैंब्रिज एनलिटिका के दावों के बावजूद कि उसने 5.5 करोड़ facebook उपभोक्ताओं के डेटा डिलीट कर दिए हैं, डेटा का बहुत बड़ा भाग अभी भी नियंत्रण से बाहर है। ब्रिटेन के ‘चैनल 4 न्यूज’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कैंब्रिज एनलिटिका के एक सूत्र के विवरण से अमेरिका के कोलोराडो राज्य के 136,000 लोगों के डेटा ‘हर व्यक्ति के व्यक्तित्व व मनोवैज्ञानिक प्रोफाइल के साथ गुप्त जगह पर हैं।

रपट में कहा गया है, “कैंब्रिज एनलिटिका द्वारा 2014 की तारीख से डेटा का इस्तेमाल आसानी से प्रभावित होने वाले निवासियों को विशेष संदेश देने के लिए किया गया। इससे पहले कैंब्रिज एनलिटिका ने दावा किया था कि उसने पब्लिक डोमेन से डेटा को खत्म कर दिया है। कंपनी ने उपभोक्ताओं का डेटा एक फेसबुक एप से सालों पहले प्राप्त किया था।

{ यह भी पढ़ें:- facebook ने यूजर्स की Privacy Security बढ़ाई, जानें कैसे Secure होगा आपका पर्सनल डाटा }

जिसे तथाकथित तौर पर एक मनोवैज्ञानिक शोध उपकरण बताया गया था। हालांकि, कंपनी उस सूचना के लिए अधिकृत नहीं थी। कैंब्रिज एनलिटिका पर ब्रिटेन के 2016 के ब्रेक्सिट जनमत संग्रह व 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के परिणाम पर असर डालने का आरोप है। अमेरिकी चुनाव परिणाम पर असर की वजह से डोनाल्ड ट्रंप व्हाइट हाउस पहुंच गए।

ब्रिटिश संसद के समक्ष हाल में अपनी उपस्थिति के दौरान पूर्व कैंब्रिज एनलिटिका के प्रोग्रामर क्रिस्टोफर वाइली ने यह कहकर स्तब्ध कर दिया कि निसंदेह उनके पूर्व नियोक्ता ने ब्रेक्सिट जनमत संग्रह में और 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में गड़बड़ी की और कानून को तोड़ा।

Loading...