Facebook Data Leak : जुकरबर्ग ने माना, 5 लाख भारतीय यूर्जस का डाटा हुआ लीक

Facebook Data Leak , जुकरबर्ग
Facebook Data Leak : जुकरबर्ग ने माना, 5 लाख भारतीय यूर्जस का डाटा हुआ लीक

वॉशिंगटन। कैंब्रिज एनालिटिका और फेसबुक डेटा लीक मामले में एक अहम और चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। यह खुलासा किसी और ने नहीं बल्कि खुद फेसबुक ने किया है। फेसबुक  ने बताया की ब्रिज एनालिटिका से 5 करोड़ नहीं बल्कि 8 करोड़ 70 लाख फेसबुक यूजर्स का डेटा अनुचित रूप से शेयर किया गया है। पहले अंदाजा लगाया जा रहा था कि ये आंकड़ा केवल 5 करोड़ यूजर तक ही सीमित है। फेसबुक के प्रमुख टेक्नोलॉजी ऑफिसर माइक स्क्रोफर ने सोशल नेटवर्किंग साइट पर यूजर का डेटा सुरक्षित बनाए रखने के लिए नया प्राइवेसी टूल जारी करते हुए ये बात कही।

Facebook Data Leak %e0%a4%9c%e0%a5%81%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a4%ac%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%97 %e0%a4%a8%e0%a5%87 %e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a4%be 5 %e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%96 %e0%a4%ad%e0%a4%be :

इससे पहले इस बात का खुलासा नहीं हुआ था कि कैंब्रिज एनालिटिका ने कितने फेसबुक यूजर्स की निजी जानकारियों का अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के दौरान गलत इस्तेमाल किया था। हालांकि, कंपनी ने अपने बयान में कहा था कि उससे पास मात्र 3 करोड़ फेसबुक यूजर्स के डेटा हैं।

स्क्रोफर ने कहा कि आने वाले सोमवार से नए टूल्स से यूजर्स को प्राइवेसी और डेटा साझा करने की बेहतर समझ मिलेगी। फेसबुक ने अलग से बयान जारी कर कहा कि नए सेवा शर्तों से डेटा साझा करने और विज्ञापन किस तरह पहुचंते है, इसके बारे में तस्वीर स्पष्ट हो जाएगी। इन बदलावों से बाहरी व्यक्ति का यूजर डेटा तक पहुंचना मुश्किल हो जाएगा।

स्क्रोफर ने बताया कि एक बदलाव ऐसा किया गया है जिससे फेसबुक सर्च के साथ किसीके एकदम सही लोकेशन का पता लगाने के लिए उसका फोन नंबर या ईमेल एड्रेस एंटरनहीं किया जा सकेगा। फेसबुक के शेयरों में भारी गिरावट जकरबर्ग ने कहा, ‘मुझे लगता है हम इन दिक्कतों को दूर कर लेंगे, लेकिन इसमें कुछ साल लगेंगे। मैं चाहता हूं कि हम इन सब मुद्दों को 3 या 6 महीने में सुलझा लें।

आपको बता दें कि डाटा लीक का असर फेसबुक के शेयरों पर भी पड़ रहा है। बुधवार को फेसबुक के शेयर 1.4 प्रतिशत गिरकर 153.90 प्रति डॉलर पहुंच गए। बता दें कि डेटा लीक का मामला सामने आने के बाद फेसबुक के शेयर में 16 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।

वॉशिंगटन। कैंब्रिज एनालिटिका और फेसबुक डेटा लीक मामले में एक अहम और चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। यह खुलासा किसी और ने नहीं बल्कि खुद फेसबुक ने किया है। फेसबुक  ने बताया की ब्रिज एनालिटिका से 5 करोड़ नहीं बल्कि 8 करोड़ 70 लाख फेसबुक यूजर्स का डेटा अनुचित रूप से शेयर किया गया है। पहले अंदाजा लगाया जा रहा था कि ये आंकड़ा केवल 5 करोड़ यूजर तक ही सीमित है। फेसबुक के प्रमुख टेक्नोलॉजी ऑफिसर माइक स्क्रोफर ने सोशल नेटवर्किंग साइट पर यूजर का डेटा सुरक्षित बनाए रखने के लिए नया प्राइवेसी टूल जारी करते हुए ये बात कही।इससे पहले इस बात का खुलासा नहीं हुआ था कि कैंब्रिज एनालिटिका ने कितने फेसबुक यूजर्स की निजी जानकारियों का अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के दौरान गलत इस्तेमाल किया था। हालांकि, कंपनी ने अपने बयान में कहा था कि उससे पास मात्र 3 करोड़ फेसबुक यूजर्स के डेटा हैं।स्क्रोफर ने कहा कि आने वाले सोमवार से नए टूल्स से यूजर्स को प्राइवेसी और डेटा साझा करने की बेहतर समझ मिलेगी। फेसबुक ने अलग से बयान जारी कर कहा कि नए सेवा शर्तों से डेटा साझा करने और विज्ञापन किस तरह पहुचंते है, इसके बारे में तस्वीर स्पष्ट हो जाएगी। इन बदलावों से बाहरी व्यक्ति का यूजर डेटा तक पहुंचना मुश्किल हो जाएगा।स्क्रोफर ने बताया कि एक बदलाव ऐसा किया गया है जिससे फेसबुक सर्च के साथ किसीके एकदम सही लोकेशन का पता लगाने के लिए उसका फोन नंबर या ईमेल एड्रेस एंटरनहीं किया जा सकेगा। फेसबुक के शेयरों में भारी गिरावट जकरबर्ग ने कहा, 'मुझे लगता है हम इन दिक्कतों को दूर कर लेंगे, लेकिन इसमें कुछ साल लगेंगे। मैं चाहता हूं कि हम इन सब मुद्दों को 3 या 6 महीने में सुलझा लें।आपको बता दें कि डाटा लीक का असर फेसबुक के शेयरों पर भी पड़ रहा है। बुधवार को फेसबुक के शेयर 1.4 प्रतिशत गिरकर 153.90 प्रति डॉलर पहुंच गए। बता दें कि डेटा लीक का मामला सामने आने के बाद फेसबुक के शेयर में 16 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।