फेसबुक पर गोरी मैम से दोस्ती करना पड़ा भारी, 65 हजार की लगी चपत

लखनऊ: सोशल मीडिया पर यदि आप भी विदेशी युवतियों से दोस्ती करना चाहते हैं, या करने की सोच रहे हैं तो सावधान हो जाएं क्योंकि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ एक बिजली ठेकेदार को विदेशी मैम से दोस्ती करना भारी पड़ गया है। इसके लिए ठेकेदार को 65 हजार रुपये की चपत लगी है।

राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर के विशालखंड निवासी बिजली ठेकेदार सुरेश गुप्ता को 18 दिन पहले सोशल मीडिया फेसबुक पर लन्दन के लीवरपूल की रहने वाली लेंडर जेरी की फ्रैंड रिक्वेस्ट आई थी। सुरेश गुप्ता ने प्रोफ़ाइल पिक्चर देखकर उनकी मित्रता स्वीकार कर ली। 17 सितंबर को लेंडर जेरी ने सुरेश को फेसबुक पर मैसेज के माध्यम से भारत आने की सूचना दी। उसने बताया कि 19 सितंबर की सुबह वह भारत पहुंच जाएगी। सुरेश से चैटिंग करते हुए लेंडर ने बताया कि उन्हें हिंदुस्तान बहुत पसंद है। सुरेश ने जवाब में कहा आपका स्वागत है।




19 सितंबर की सुबह जेरी ने साढ़े नौ बजे सुरेश को एक अनजान नंबर से कॉल कर बताया कि उसे दिल्ली एयरपोर्ट पर कस्टम अफसरों ने रोक लिया है। उसने पूजा शर्मा नाम की अधिकारी से उसकी बात करवाई। पूजा ने सुरेश को फोन पर बताया कि उसकी दोस्त तब तक नहीं छोड़ा जाएगा जब तक वह कस्टम ड्यूटी नहीं देगी क्योंकि उसकी दोस्त के पास कुछ सोने के जेवरात और आईफोन है। इसके लिए उसे करीब 65 हजार रूपये जमा करने होंगे। पर सुरेश ने पूजा से जेरी को छोड़ने को कहा तब पूजा ने कहा कि वह उसकी दोस्त को बिना कस्टम ड्यूटी दिए नहीं छोड़ सकती है हां कम जरूर कर सकती है।

उन्होने सुरेश को एक आईसीआईसीआई बैंक का अकाउंट नंबर और दिल्ली का एक पैन नंबर भेजते हुए 50,000 रुपये ट्रांसफर करने को कहा। पैसे ट्रांसफर करने के करीब एक घंटे बाद पूजा ने सुरेश को फिर कॉल किया और कहा कि उन्हें 15000 रुपये धनराशि और जमा करनी होगी वर्ना जेरी को नहीं जाने दिया जाएगा। इसके बाद सुरेश ने फिर 15 हजार रुपये जमा करवाये। रुपये जमा करने के बाद सुरेश ने जब जेरी से संपर्क किया तो जेरी बताया कि उन लोगों ने उसे छोड़ दिया है। वो थक गयी है जिसके लिए वो रेस्ट रूम में रेस्ट करने जा रही है। कुछ देर बाद जब सुरेश ने जेरी को फोन किया तो उसने सुरेश को 147999 रुपये और जमा करने को कहा।

इस बीच सुरेश के पास 65000 रुपये की रिसीविंग का एक ई-मेल आया। मेल देख सुरेश को कुछ गड़बड़ी लगी। उसने आईसीआईसीआई बैंक अकाउंट नंबर और दिल्ली के पैन नंबर की जांच कारवाई तो वो लखनऊ के निवासी विवेक का अकाउंट नंबर निकला जिसके बाद सुरेश ने आईजी रूल्स एंड मैनुअल्स अमिताभ ठाकुर के जरिए एसएसपी से शिकायत की है। फिलहाल इस मामले में साइबर क्राइम सेल को जाँच के लिए लगा दिया गया है जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होंगे।