Facebook के पास है 27 करोड़ फर्जी आउंट की जानकारी, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

साल 2016 के अमेरिकी चुनाव में रूस के दखल के संबंध में अपनी भूमिका को लेकर फेसबुक पहले ही जांच के घेरे में है। जिसके चलते सोशल साइट फेसबुक ने स्वीकार किया है कि उसके प्लेटफार्म पर 27 करोड़ खाते फर्जी या नकली हैं। द टेलीग्राफ की रपट में शनिवार को बताया गया है कि सोशल मीडिया दिग्गज ने इस हफ्ते अपनी तिमाही आय के आंकड़े जारी किए थे और इसके साथ ही यह खुलासा भी किया था कि उसने जितना अनुमान लगाया था, उससे दसों लाख गुना ज्यादा फर्जी या नकली खाते हैं।

Facebook Has Information About 27 Million Fake Account :

रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक ने सांसदों को यह बताने की योजना बनाई थी कि 12.6 करोड़ प्रयोक्ताओं ने रूसी ऑपरेटरों द्वारा उत्पादित और वितरित सामग्री देखी होगी। यह कंपनी द्वारा पहले बताए गए आंकड़ों से कई गुना अधिक है। फेसबुक ने पहले बताया था कि लगभग 10 लाख यूजर्स ने उन विज्ञापनों को देखा था।

अमरीकी राष्ट्रपति चुनावों में रूसी हस्तक्षेप को लेकर चल रही रार के बीच एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। जानकारी मिली है कि सोशल मीडिया फेसबुक, गूगल और ट्विटर एक नवंबर, 2016 के अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हस्तक्षेप पर पूछताछ का सामना करने की तैयारी कर रहे हैं और साथ ही वे सांसदों को यह भी बताने की योजना बना रहे हैं कि इन मंचों पर उपभोक्ताओं तक रूसी सामग्री प्राप्त जानकारी की तुलना में काफी अधिक पहुंची है। ‘द वाशिंगटन पोस्ट’ की सोमवार की रपट के अनुसार, फेसबुक कानून निर्माताओं को यह बताने की तैयारी कर रहा है कि उसके 12.6 करोड़ उपभोक्ताओं ने रूसी ऑपरेटरों द्वारा निर्मित व प्रसारित सामग्री देखा था, जो उस आंकड़े से बहुत ज्यादा है, जिसका कंपनी पहले कई बार खुलासा कर चुकी है।

साल 2016 के अमेरिकी चुनाव में रूस के दखल के संबंध में अपनी भूमिका को लेकर फेसबुक पहले ही जांच के घेरे में है। जिसके चलते सोशल साइट फेसबुक ने स्वीकार किया है कि उसके प्लेटफार्म पर 27 करोड़ खाते फर्जी या नकली हैं। द टेलीग्राफ की रपट में शनिवार को बताया गया है कि सोशल मीडिया दिग्गज ने इस हफ्ते अपनी तिमाही आय के आंकड़े जारी किए थे और इसके साथ ही यह खुलासा भी किया था कि उसने जितना अनुमान लगाया था, उससे दसों लाख गुना ज्यादा फर्जी या नकली खाते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक ने सांसदों को यह बताने की योजना बनाई थी कि 12.6 करोड़ प्रयोक्ताओं ने रूसी ऑपरेटरों द्वारा उत्पादित और वितरित सामग्री देखी होगी। यह कंपनी द्वारा पहले बताए गए आंकड़ों से कई गुना अधिक है। फेसबुक ने पहले बताया था कि लगभग 10 लाख यूजर्स ने उन विज्ञापनों को देखा था। अमरीकी राष्ट्रपति चुनावों में रूसी हस्तक्षेप को लेकर चल रही रार के बीच एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। जानकारी मिली है कि सोशल मीडिया फेसबुक, गूगल और ट्विटर एक नवंबर, 2016 के अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हस्तक्षेप पर पूछताछ का सामना करने की तैयारी कर रहे हैं और साथ ही वे सांसदों को यह भी बताने की योजना बना रहे हैं कि इन मंचों पर उपभोक्ताओं तक रूसी सामग्री प्राप्त जानकारी की तुलना में काफी अधिक पहुंची है। 'द वाशिंगटन पोस्ट' की सोमवार की रपट के अनुसार, फेसबुक कानून निर्माताओं को यह बताने की तैयारी कर रहा है कि उसके 12.6 करोड़ उपभोक्ताओं ने रूसी ऑपरेटरों द्वारा निर्मित व प्रसारित सामग्री देखा था, जो उस आंकड़े से बहुत ज्यादा है, जिसका कंपनी पहले कई बार खुलासा कर चुकी है।