‘Libra’ नामक क्रिप्टोकरेंसी को जल्द मार्केट में उतारेगा Facebook

fb
Facebook के अधिकारी ने बिल्डिंग से कुदकर दी अपनी जान, जानें पूरा मामला

नई दिल्ली। सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी फेसबुक अपनी क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में लाने जा रहा है। फेसबुक ने मंगलवार को बिटक्वाइन जैसी एक नई डिजिटल करेंसी पेश करने की अपनी योजना की घोषणा की। फेसबुक और करीब दो दर्जन साझेदार कंपनियों ने नई करेंसी ‘लिब्रा’ का प्रोटोटाइप पेश किया।

Facebook Will Launch Crypto Currency Libra Soon :

दरअसल, जेनेवा में स्थित लिब्रा नाम का एक गैरलाभकारी संगठन ब्लॉकचेन आधारित नई करेंसी की निगरानी करेगा। यही संगठन नई करेंसी के मूल्य के आधार पर दुनिया में चलने वाली वास्तविक मुद्राओं का भंडार रखेगा, ताकि लिब्रा के मूल्य में एक निश्चितता बनी रहे।

वहीं, लिब्रा एसोसिएशन के पॉलिसी एवं कम्युनिकेशंस प्रमुख डेंट डिस्पार्टे ने कहा कि नई डिजिटल करेंसी लिब्रा दुनियाभर में बैंकिंग सुविधा से वंचित लोगों तक ई-कॉमर्स और वित्तीय सेवा की पहुंच उपलब्ध कराएगी। लिब्रा एसोसिएशन ने 28 सदस्यों के साथ काम करना शुरू कर दिया।

बता दें, इन सदस्यों में मास्टरकार्ड, वीसा, स्टिप, किवा, पेपाल, लिफ्ट, उबर और वुमंस वल्र्ड बैंकिंग भी शामिल हैं। फेसबुक भी संगठन का एक सदस्य है, लेकिन वह अलग से एक डिजिटल वॉलेट कैलिब्रा भी बना रही है।

नई दिल्ली। सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी फेसबुक अपनी क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में लाने जा रहा है। फेसबुक ने मंगलवार को बिटक्वाइन जैसी एक नई डिजिटल करेंसी पेश करने की अपनी योजना की घोषणा की। फेसबुक और करीब दो दर्जन साझेदार कंपनियों ने नई करेंसी ‘लिब्रा’ का प्रोटोटाइप पेश किया। दरअसल, जेनेवा में स्थित लिब्रा नाम का एक गैरलाभकारी संगठन ब्लॉकचेन आधारित नई करेंसी की निगरानी करेगा। यही संगठन नई करेंसी के मूल्य के आधार पर दुनिया में चलने वाली वास्तविक मुद्राओं का भंडार रखेगा, ताकि लिब्रा के मूल्य में एक निश्चितता बनी रहे। वहीं, लिब्रा एसोसिएशन के पॉलिसी एवं कम्युनिकेशंस प्रमुख डेंट डिस्पार्टे ने कहा कि नई डिजिटल करेंसी लिब्रा दुनियाभर में बैंकिंग सुविधा से वंचित लोगों तक ई-कॉमर्स और वित्तीय सेवा की पहुंच उपलब्ध कराएगी। लिब्रा एसोसिएशन ने 28 सदस्यों के साथ काम करना शुरू कर दिया। बता दें, इन सदस्यों में मास्टरकार्ड, वीसा, स्टिप, किवा, पेपाल, लिफ्ट, उबर और वुमंस वल्र्ड बैंकिंग भी शामिल हैं। फेसबुक भी संगठन का एक सदस्य है, लेकिन वह अलग से एक डिजिटल वॉलेट कैलिब्रा भी बना रही है।