सावधान: लखनऊ में बीक रखी है नकली बटोनोवेट सी क्रीम, सात दुकानों पर छापा

b

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के आशियाना इलाके में सात दुकान पर बटोनोवेट सी स्किन क्रीम नकली मिली। इस मामले में सभी दुकानदारों के खिलाफ आशियाना कोतवाली में कापीराइट एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज की गयी है। पुलिस ने बरामद नकली क्रीम को अपने कब्जे में ले लिया है।

Fake Betnovate C Cream Being Sold In Lucknow :

आशियाना सेक्टर के निवासी नीरज मिश्र गुडग़ांव स्थित नेत्रिका कन्सल्टिंग एण्ड इंवेस्टीगेशन नाम की कम्पनी में बतौर टीम लीडर काम करते हैं। उनकी कम्पनी गैलैक्सी स्मिथ क्लाइन नाम की दवा कम्पनी के नाम से नकली दवा बनाक बाजार में बेचने वालों की धर-पकड़ और कानूनी कार्रवाई के लिए अधिकृत है।

नीरज का कहना है कि आशियाना इलाके में मार्केट सर्वे के दौरान उनको इस बात का पता चला कि गैलैक्सी स्मिथ क्लाइन कम्पनी की बटोनोवेट सी स्किन क्रीम के नाम से नकली दवा बनाकर बाजार में बेची जा रही है। उन्होंने इस बात की सूचना आशियाना पुलिस को दी। इसके बाद आशियाना पुलिस नीरज मिश्र और उनके सहयोगी अमित सक्सेना के साथ नकली दवा बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए निकले।

पुलिस टीम ने सबसे पहले रजनीखण्ड प्रियमन क्रासिंग प्लाजा स्थित संजीवनी मेडिकल स्टोर पर छापा मारा। यहां से 9 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम मिली। पूछताछ में दुकानदार ने अपना नाम अनिल कुमार पाण्डेय बताया। इसके बाद टीम ने गुरुनानक मेडिकल स्टोर पर छापा मारा गया और वहां से 10 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम मिली। यहां के दुकानदार ने अपना नाम संदीप कुमार बताया। गुरुनानक मेडिकल स्टोर के बाद पुलिस टीम ने अपोलो फार्मेसी नाम की दुकान पर छापा डाला और यहां से 3 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम मिली। दुकान पर सेल्समैन महेन्द्र कुमार मिला।

इसके बाद जांच टीम ने न्यू सूर्या मेडिकल स्टोर पर छापेमारी की और यहां से 10 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम बरामद की गयी। इस दुकान के मालिक ने अपना नाम अरविंद कुमार गुप्ता बताया। पास में ही स्थित उदय लक्ष्मी मेडिकल पर छापेमारी के दौरान 47 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम पायेगी। पूछताछ में इस दुकान के मालिक ने अपना नाम शिवेन्द्र सिंह बताया। इसके बाद पुलिस टीम सेक्टर के स्थित देव मेडिकल स्टोर पहुंची और जांच के दौरान यहां से 9 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम मिली।

देव मेडिकल स्टोर के मालिक ने अपना नाम विवेक त्रिपाठी बताया। सेक्टर के में स्थित न्यू गगन मेडिकल स्टोर पर छापेमारी के दौरान पुलिस टीम को 13 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम मिली। सभी दुकानों से बरामद की गयी नकली क्रीम को पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया। इस मामले में नीरज मिश्र की तरफ से पुलिस ने सभी दुकानदारों के खिलाफ कापी राइट अधिनियम 1957 की धारा 63 और 65 के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

आमतौर पर त्वच से संबंधित दिक्कतों और बीमारी के लिए डाक्टर बटोनोवेट सी स्किन क्रीम प्रयोग करने की सलह देते हैं। मार्केट में इस क्रीम की कीमत 40 रुपये प्रति ट्यूब है। एक ट्यूब में करीब 30 ग्राम क्रीम आती है। अब इस पूरे मामले में सबसे अहम बात यह है कि नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम मार्केट में आ कहां से रही है और उसको कौन बना रहा है। साथ ही नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम के प्रयोग से लोगों को क्या नुकसान पहुंच रहा है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के आशियाना इलाके में सात दुकान पर बटोनोवेट सी स्किन क्रीम नकली मिली। इस मामले में सभी दुकानदारों के खिलाफ आशियाना कोतवाली में कापीराइट एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज की गयी है। पुलिस ने बरामद नकली क्रीम को अपने कब्जे में ले लिया है। आशियाना सेक्टर के निवासी नीरज मिश्र गुडग़ांव स्थित नेत्रिका कन्सल्टिंग एण्ड इंवेस्टीगेशन नाम की कम्पनी में बतौर टीम लीडर काम करते हैं। उनकी कम्पनी गैलैक्सी स्मिथ क्लाइन नाम की दवा कम्पनी के नाम से नकली दवा बनाक बाजार में बेचने वालों की धर-पकड़ और कानूनी कार्रवाई के लिए अधिकृत है। नीरज का कहना है कि आशियाना इलाके में मार्केट सर्वे के दौरान उनको इस बात का पता चला कि गैलैक्सी स्मिथ क्लाइन कम्पनी की बटोनोवेट सी स्किन क्रीम के नाम से नकली दवा बनाकर बाजार में बेची जा रही है। उन्होंने इस बात की सूचना आशियाना पुलिस को दी। इसके बाद आशियाना पुलिस नीरज मिश्र और उनके सहयोगी अमित सक्सेना के साथ नकली दवा बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए निकले। पुलिस टीम ने सबसे पहले रजनीखण्ड प्रियमन क्रासिंग प्लाजा स्थित संजीवनी मेडिकल स्टोर पर छापा मारा। यहां से 9 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम मिली। पूछताछ में दुकानदार ने अपना नाम अनिल कुमार पाण्डेय बताया। इसके बाद टीम ने गुरुनानक मेडिकल स्टोर पर छापा मारा गया और वहां से 10 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम मिली। यहां के दुकानदार ने अपना नाम संदीप कुमार बताया। गुरुनानक मेडिकल स्टोर के बाद पुलिस टीम ने अपोलो फार्मेसी नाम की दुकान पर छापा डाला और यहां से 3 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम मिली। दुकान पर सेल्समैन महेन्द्र कुमार मिला। इसके बाद जांच टीम ने न्यू सूर्या मेडिकल स्टोर पर छापेमारी की और यहां से 10 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम बरामद की गयी। इस दुकान के मालिक ने अपना नाम अरविंद कुमार गुप्ता बताया। पास में ही स्थित उदय लक्ष्मी मेडिकल पर छापेमारी के दौरान 47 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम पायेगी। पूछताछ में इस दुकान के मालिक ने अपना नाम शिवेन्द्र सिंह बताया। इसके बाद पुलिस टीम सेक्टर के स्थित देव मेडिकल स्टोर पहुंची और जांच के दौरान यहां से 9 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम मिली। देव मेडिकल स्टोर के मालिक ने अपना नाम विवेक त्रिपाठी बताया। सेक्टर के में स्थित न्यू गगन मेडिकल स्टोर पर छापेमारी के दौरान पुलिस टीम को 13 ट्यूब नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम मिली। सभी दुकानों से बरामद की गयी नकली क्रीम को पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया। इस मामले में नीरज मिश्र की तरफ से पुलिस ने सभी दुकानदारों के खिलाफ कापी राइट अधिनियम 1957 की धारा 63 और 65 के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली है। आमतौर पर त्वच से संबंधित दिक्कतों और बीमारी के लिए डाक्टर बटोनोवेट सी स्किन क्रीम प्रयोग करने की सलह देते हैं। मार्केट में इस क्रीम की कीमत 40 रुपये प्रति ट्यूब है। एक ट्यूब में करीब 30 ग्राम क्रीम आती है। अब इस पूरे मामले में सबसे अहम बात यह है कि नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम मार्केट में आ कहां से रही है और उसको कौन बना रहा है। साथ ही नकली बटोनोवेट सी स्किन क्रीम के प्रयोग से लोगों को क्या नुकसान पहुंच रहा है।