नकली सीबीआई के अफसर ने महिला के डेढ़ लाख के जेवरात ठगे

g

लखनऊ । उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गाजीपुर में रिटायर्ड प्रोफेसर की पत्नी से शातिर टप्पेबाज सीबीआई अफसर बनकर डेढ़ लाख रुपये की ज्वैलरी ले उड़े। मंदिर जा रही महिला को रोड पर ज्वैलरी पहनकर घूमने पर पांच हजार रुपये के जुर्माने के लिए डराया और फिर मर्डर की झूठी कहानी गढ़कर ज्वैलरी उतारवा ली।

Fake Cbi Officer Looted Woman :

गाजीपुर के आम्रपाली अपार्टमेंट में रहने वाले ओम प्रकाश श्रीवास्तव राम स्वरुप डिग्र्री कॉलेज से रिटायर्ड प्रोफेसर है। मंगलवार दोपहर 12 बजे उनकी पत्नी निर्मला भूतनाथ मंदिर जाने के लिए पैदल ही घर से निकली थी। रिंग रोड पर मौजूद बाइक सवार दो शातिर टप्पेबाजों ने उन्हें रोक लिया और खुद को सीबीआई अफसर बताया।

उन्होंने निर्मला को डराया कि रोड पर ज्वैलरी पहनकर घूमने पर पांच हजार का जुर्माना लगेगा। यहीं नहीं दोनों बताया कि सोमवार को एरिया में रहने वाली गीता नाम की महिला का मर्डर हो गया और उनकी सारी ज्वैलरी बदमाश लूट ले गए। बुजुर्ग निर्मला उनके बातों की झांसे में आ गई।

हाथ में पहने सोने के कंगन, अंगुठी, मंगलसूत्र और सोने की चेन उतार कर एक पुडिय़ा में बांध कर टप्पेबाजों ने उनके पर्स में रख दिया। घर पहुंचने पर उन्होंने पुडिय़ा खोली तो कागज में पीतल के कड़े मिले। टप्पेबाजी की जानकारी निर्मला ने गाजीपुर पुलिस को दी। उनकी तहरीर पर पुलिस ने टप्पेबाजी की रिपोर्ट दर्ज कर ली।

लखनऊ । उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गाजीपुर में रिटायर्ड प्रोफेसर की पत्नी से शातिर टप्पेबाज सीबीआई अफसर बनकर डेढ़ लाख रुपये की ज्वैलरी ले उड़े। मंदिर जा रही महिला को रोड पर ज्वैलरी पहनकर घूमने पर पांच हजार रुपये के जुर्माने के लिए डराया और फिर मर्डर की झूठी कहानी गढ़कर ज्वैलरी उतारवा ली। गाजीपुर के आम्रपाली अपार्टमेंट में रहने वाले ओम प्रकाश श्रीवास्तव राम स्वरुप डिग्र्री कॉलेज से रिटायर्ड प्रोफेसर है। मंगलवार दोपहर 12 बजे उनकी पत्नी निर्मला भूतनाथ मंदिर जाने के लिए पैदल ही घर से निकली थी। रिंग रोड पर मौजूद बाइक सवार दो शातिर टप्पेबाजों ने उन्हें रोक लिया और खुद को सीबीआई अफसर बताया। उन्होंने निर्मला को डराया कि रोड पर ज्वैलरी पहनकर घूमने पर पांच हजार का जुर्माना लगेगा। यहीं नहीं दोनों बताया कि सोमवार को एरिया में रहने वाली गीता नाम की महिला का मर्डर हो गया और उनकी सारी ज्वैलरी बदमाश लूट ले गए। बुजुर्ग निर्मला उनके बातों की झांसे में आ गई। हाथ में पहने सोने के कंगन, अंगुठी, मंगलसूत्र और सोने की चेन उतार कर एक पुडिय़ा में बांध कर टप्पेबाजों ने उनके पर्स में रख दिया। घर पहुंचने पर उन्होंने पुडिय़ा खोली तो कागज में पीतल के कड़े मिले। टप्पेबाजी की जानकारी निर्मला ने गाजीपुर पुलिस को दी। उनकी तहरीर पर पुलिस ने टप्पेबाजी की रिपोर्ट दर्ज कर ली।