फर्जी आयकर रेड में सब इंस्पेक्टर ले उड़ा 20 लाख की नई करेंसी

नई दिल्ली। साउथ दिल्ली के एक आफिस में फर्जी आयकर आॅफिसर और सब-इंस्पेक्टर मिलकर रेड करते हैं और 20 लाख रूपये की नई करेंसी उड़ा ले जाते है। यह बता आपको कुछ वर्ष पहले आई अक्षय कुमार की फिल्म स्पेशल छब्बीस की कहानी याद दिला रही होगी, लेकिन आज ये ताजा खबर है।




साउथ दिल्ली के प्रॉपर्टी डीलर विकास वशिष्ठ ने बोतलबंद पानी का कारोबार करने वाले ललित वाधवा से अपने पुराने नोट एक्सचेंज करवाने के लिए संप​र्क किया था। वाधवा ने 24 लाख रुपये के पुराने नोटों के बदले 20 लाख रुपये की नई करंसी देने का आॅफर दिया। सौदा तय होने के बाद 13 दिसंबर को विकास वशिष्ठ अपने दो सहयोगियों (एक महिला) के साथ 24 लाख की पुरानी करंसी लेकर ललित वाधवा के दफ्तर पहुंच गया। विकास के हाथों में जैसे ही नए नोट मिलते हैं वैसे ही वाधवा के आॅफिस पर आयकर की रेड हो जाती है।

बकौल भुक्तभोगी आयकर के अधिकारी और उसके साथ आए पुलिस के सब इंस्पेक्टर ने आॅफिस में घुसते ही वहां मौजूद चारों लोगों को अर्दब में ले लिया। मौके पर मौजूद नई करेंसी को अपने कब्जे में लेने के बाद आयकर अधिकारी और पुलिस वाला उनसे कुछ पूछ ताछ करने के बाद अपना आई कार्ड दिखाकर नई करेंसी लेकर वहां से निकल जाते हैं। जिसके बाद ललित वाधवा उन्हें पैसे वापस मिलने का भरोसा दिलाकर वापस भेज देता है।




पुरानी करेंसी को नई करेंसी में बदलने के चक्कर में धोखाधड़ी का शिकार हुआ विकास वशिष्ठ जब पूरे मामले को समझ पाया तो उसने शुक्रवार को साउथ दिल्ली के सेक्टर 30 पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज करवाकर पूरी घटना की जानकारी दी। जिसके बाद पुलिस ने ललित वाधवा को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पता चला कि यह पूरी साजिश उसकी खुद की रची हुई थी।




उसने दिल्ली क्राइम ब्रांच में तैनात अपने परचित सब इंस्पेक्टर की मदद से विकास के साथ 24 लाख की धोखाधड़ी को अंजाम दिया था। नई करेंसी आरोपी सब इंस्पेक्टर के पास ही बताई जा रही है। मामला पुलिस में आने के बाद से आयकर अधिकारी बनकर आए व्यक्ति और सब इंस्पेक्टर को फरार बताया जा रहा है।