कल है फाल्गुन अमावस्या, जानें शुभ मुहूर्त और इससे जुड़ी अन्य जानकारी के बारे में….

कल है फाल्गुन अमावस्या, जानें शुभ मुहूर्त और इससे जुड़ी अन्य जानकारी के बारे में....
कल है फाल्गुन अमावस्या, जानें शुभ मुहूर्त और इससे जुड़ी अन्य जानकारी के बारे में....

लखनऊ। फाल्गुन माह में पड़ने वाली अमावस्या को फाल्गुन अमावस्या कहा जाता हैं। यह अमावस्या इसलिए भी खास है क्योंकि यह हिंदू वर्ष की अंतिम अमावस्या होती है। फाल्गुन अमावस्या महाशिवरात्रि के पर्व के बाद आता है। हिंदू धर्म में आस्था रखने वालों के लिये फाल्गुनी अमावस्या का अपना अलग महत्व है।

Falgun Amavasya 2020 Date And Time Puja Vidhi :

मान्यता है कि इस दिन लोग अपने पितरों की आत्मा की शांति के लिये दान, तर्पण और श्राद्ध करते हैं। बता दें कि इस बार फाल्गुन अमावस्या 23 फरवरी यानि रविवार के दिन पड़ रही है। इस दिन धार्मिक तीर्थ स्थलों पर स्नान करना बहुत ही शुभ माना जाता है। आइये जानते हैं फाल्गुन अमावस्या का शुभ मुहूर्त के बारे में….

फाल्गुन अमावस्या का शुभ मुहूर्त

अमावस्या तिथि आरंभ– 19:04:19 बजे (22 फरवरी )
अमावस्या तिथि समाप्त– 21:03:12 बजे (23 फरवरी)

फाल्गुन अमावस्या पर सूर्य देवता को ऐसे करें प्रसन्न

  • कुंडली में लग्न और आरोग्यता का कारक सूर्य को मानते हैं।
  • सूर्य की विधि विधान से पूजा करके हम बीमारियों से मुक्ति पा सकते हैं।
  • फाल्गुन अमावस्या पर रविवार का उपवास रखें और इस दिन नमक का सेवन न करें।
  • रोज सुबह के समय सूर्य चालीसा का पाठ करें।
  • भगवान सूर्य के 12 नामों का जाप सुबह के समय घी का दीपक जलाकर करें।
  • अगर पित्र दोष ज्यादा ही समस्या दे रहा हो तो लाल मीठी चीजों का दान करें।
लखनऊ। फाल्गुन माह में पड़ने वाली अमावस्या को फाल्गुन अमावस्या कहा जाता हैं। यह अमावस्या इसलिए भी खास है क्योंकि यह हिंदू वर्ष की अंतिम अमावस्या होती है। फाल्गुन अमावस्या महाशिवरात्रि के पर्व के बाद आता है। हिंदू धर्म में आस्था रखने वालों के लिये फाल्गुनी अमावस्या का अपना अलग महत्व है। मान्यता है कि इस दिन लोग अपने पितरों की आत्मा की शांति के लिये दान, तर्पण और श्राद्ध करते हैं। बता दें कि इस बार फाल्गुन अमावस्या 23 फरवरी यानि रविवार के दिन पड़ रही है। इस दिन धार्मिक तीर्थ स्थलों पर स्नान करना बहुत ही शुभ माना जाता है। आइये जानते हैं फाल्गुन अमावस्या का शुभ मुहूर्त के बारे में.... फाल्गुन अमावस्या का शुभ मुहूर्त अमावस्या तिथि आरंभ– 19:04:19 बजे (22 फरवरी ) अमावस्या तिथि समाप्त– 21:03:12 बजे (23 फरवरी) फाल्गुन अमावस्या पर सूर्य देवता को ऐसे करें प्रसन्न
  • कुंडली में लग्न और आरोग्यता का कारक सूर्य को मानते हैं।
  • सूर्य की विधि विधान से पूजा करके हम बीमारियों से मुक्ति पा सकते हैं।
  • फाल्गुन अमावस्या पर रविवार का उपवास रखें और इस दिन नमक का सेवन न करें।
  • रोज सुबह के समय सूर्य चालीसा का पाठ करें।
  • भगवान सूर्य के 12 नामों का जाप सुबह के समय घी का दीपक जलाकर करें।
  • अगर पित्र दोष ज्यादा ही समस्या दे रहा हो तो लाल मीठी चीजों का दान करें।