1. हिन्दी समाचार
  2. ख़बरें जरा हटके
  3. परिवार ने अंतिम संस्कार से पहले भोलेनाथ को किया याद, मृत बेटा अचानक लेने लगा सांस

परिवार ने अंतिम संस्कार से पहले भोलेनाथ को किया याद, मृत बेटा अचानक लेने लगा सांस

Family Remembers Bholenath Before Funeral Dead Son Suddenly Starts Breathing

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लखनऊ: इसे कुदरत का करिश्मा कहें या चमत्कार. चंडीगढ़ PGI के डॉक्टर द्वारा मृत घोषित किए जाने के 8 घंटे बाद एक युवक जिंदा हो गया. दरअसल, फॉर्मेलिटीज पूरी करने के बाद हॉस्पिटल ने परिजनों से कहा कि अब आप डेडबॉडी घर ले जा सकते हैं. लेकिन अंतिम संस्कार की तैयारी के समय 10वीं में पढ़ने वाले 15 साल के गुरतेज सिंह की सांसें लौट आईं.

पढ़ें :- जब शख्स को सड़क पर घूमता दिखा Black Panther, VIDEO बनाते हुए करने लगा...

पक्खोकलां गांव निवासी सिंगारा सिंह के 15 वर्षीय बेटे गुरतेज बीते दिनों आंख की रोशनी कम होने की शिकायत के बाद बठिंडा के सिविल हॉस्पिटल में भर्ती हुआ था. जहां डॉक्टरों ने सिर में रसौली बताकर उसे डीएमसी लुधियाना व फिर पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया.

घर में गुरतेज के अंतिम संस्कार की तैयारियां चल रही थीं. जब उसके कपड़े बदले जा रहे थे, लड़के के परिजन शिव शंकर से दुआ मांग रहे थे तब उसके पड़ोसी सतनाम सिंह को गुरतेज की धड़कनें चलने का आभास हुआ. ये देख पहले तो घरवाले चौंके, फिर उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. परिजनों ने फिर पीजीआई के डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है.

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...